UP: बिजनौर में नेशनल खो-खो खिलाड़ी के हत्याकांड में सनसनीखेज खुलासा, रेप में नाकाम होने पर आरोपी ने की थी हत्या

डीएन संवाददाता

उत्तर प्रदेश के बिजनौर में नेशनल खो-खो प्लेयर के मर्डर केस में पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है। रेप में नाकाम आरोपी ने महिला खिलाड़ी को मौत के घाट उतार दिया था। पूरी रिपोर्ट

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी


बिजनौर: नेशनल खो-खो प्लेयर की हत्याकांड का आखिरकार पुलिस ने खुलासा कर दिया है। इस हत्याकांड को बेहद सनसनीखेज तरीके से अंजाम दिया गया। रेप में नाकाम आरोपी ने महिला खिलाड़ी की हत्या कर दी थी। आरोपी नशेड़ी है। पुलिस ने मोबाइल सर्विलांस के द्वारा हत्यारोपी को गिरफ्तार कर लिया है। इस हाईप्रोफाइल मामले को लेकर पुलिस पर लगातार सवाल उठ रहे थे। डीआईजी का कहना है कि आरोपी के खिलाफ एनएसए की भी कार्रवाई की जायेगी। पुलिस ने इस हत्याकांड को अंजाम देने वाले शहजाद को गिरफ्तार कर लिया है। 

राष्ट्रीय खो-खो टीम की खिलाड़ी रह चुकी 24 साल की बबली की हत्या का खुलासा करते हुए पुलिस ने बताया कि आरोपी ने रेप करने की नियत से आरोपी ने महिला खिलाड़ी को पकड़ा था। लेकिन विरोध करने और शोर मचाने के बाद आरोपी ने दुपट्टे से गला दबाकर उसकी हत्या कर दी थी। पुलिस ने बताया कि दुष्कर्म में विफल होने पर रेलवे के मजदूर शहजाद ने नेशनल खिलाड़ी रह चुकी युवती की हत्या को अंजाम दिया। आरोपी नशेड़ी है और बिजनौर के आदमपुर का रहने वाला है। पुलिस ने आरोपी को आज मंगलवार दोपहर को गिरफ्तार किया। 

बता दें गत शुक्रवार को 10 सितंबर को महिला खिलाड़ी की दिनदहाड़े हत्या की गई थी। युवती सुबह करीब 11.30 बजे अपने घर से निकली थी। वह एक स्कूल में फिजिकल ट्रेनिंग टीचर की नई नौकरी के लिए इंटरव्यू देने गई थी। जब वह नहीं लौटी तो परिजन उसकी तलाश करने लगे। खोजबीन के बाद युवती का शव को उसके घर से करीब 100 मीटर दूर रेलवे ट्रैक के सीमेंट ब्लॉक के बीच पाया गया। उसका एक दांत भी टूटा हुआ था। गले पर गला घोंटने के निशान थे। उसके कपड़े भी अस्त-व्यस्त थे। जिसके बाद बिजनौर रेलवे स्टेशन के जीआरपी थाने में 376,201,302 के खिलाफ अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया। इसके बाद स्थानीय पुलिस ने मामला जीआरपी का बताकर पल्ला झाड़ लिया था।

इस हाईप्रोफाइल हत्याकांड को लेकर पुलिस की बहुत किरकिरी हुई थी। बाद में डीआईजी शलभ माथुर ने केस की कमान खुद संभाली और जांच टीमों को लगाया। डीआईजी ने कहा कि इस केस को गंभीरता से लेकर जांच की गई। मोबाइल कॉल रिकॉर्ड के सहारे सर्विलांस के जरिये आरोपी को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार आरोपी बिजनौर रेलवे स्टेशन पर पल्लेदारी का काम करता है। डीआईजी ने कहा कि आरोपी के खिलाफ एनएसए लगाया जायेगा।










संबंधित समाचार