जान बचाने वालों ने ही ली महिला की जान

डीएन संवाददाता

सुल्तानपुर में डाक्टरों की लापरवाही का एक बड़ा मामला सामने आया है, जहां डाक्टर की लापरवाही के कारण महिला की दर्दनाक मौत हो गई।

इस अस्पताल के डाक्टर ने बरती लापरवाही
इस अस्पताल के डाक्टर ने बरती लापरवाही

सुल्तानपुर: एक बार फिर डाक्टरों की भयंकर लापरवाही सामने आई है। लापरवाही के चलते आपरेशन के दौरान महिला की मौत हो गई, जिसके बाद गुस्साए परिजन डाक्टर के खिलाफ कार्यवाही कि मांग कर रहे हैं। ताजा मामला कादीपुर कोतवाली का है, जहां निजी अस्पताल लालमणि हास्पिटल में डाक्टरों की लापरवाही के कारण प्रसव के दौरान महिला की मौत हो गई।

मृतक

गुरुवार की रात महिला को प्रसव पीड़ा के बाद हास्पिटल ले जाया गया। परिजनों के मुताबिक संचालक डा. आनंद ने कहा कि बगैर आपरेशन इलाज सम्भव नहीं है। परिजनों ने जैसे-तैसे पैसों का बंदोबस्त कर जमा किए और उसके बाद आपरेशन शुरु हुआ। घंटे भर के आपरेशन के बाद ममता ने एक बच्चे को जन्म दिया लेकिन आपरेशन में बरती गई लापरवाही के चलते उसकी हालत गंभीर हो गई।

परिजनों ने लगाया डाक्टर पर आरोप

परिजनों ने डाक्टर पर आरोप लगाते हुए कहा कि आपरेशन के दौरान बरती गई लापरवाही में नस कट जाने के कारण महिला को ब्लीडिंग होने लगी और उसकी हालत गंभीर हो गई। परिजनों ने डाक्टर से रेफर करने की बात कही लेकिन डाक्टर ने मना कर दिया। देर रात जब डाक्टर को लगा कि वो महिला को नहीं बचा पाएंगे तो उसके बाद लखनऊ के लिए रेफर कर दिया। लखनऊ ले जाते समय एम्बुलेंस में प्रसूता की मौत हो गई। इस घटना से दुखी परिजनों ने डाक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए चिकित्सकों पर कार्यवाही की मांग की है।

डा. आनंद सिंह की प्रतिक्रिया

इस मसले पर जब डा. आनंद सिंह से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि उनके हास्पिटल में ऐसी किसी महिला का इलाज ही नहीं हुआ है। इस मामले में एसडीएम सदर प्रमोद पाण्डेय ने कहा कि मामला अत्यंत ही संवेदनशील है और ये जांच का विषय है। अगर परिजनों ने आरोप लगाया है तो निश्चित तौर पर कार्यवाई की जाएगी। साथ ही एसडीएम ने यह भी कहा कि शासन के निर्देश के बावजूद अगर सरकारी चिकित्सक प्राइवेट प्रैक्टिस कर रहे हैं तो इसके लिए छापेमारी की जाएगी।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार