रायबरेली हत्याकांड की सीबीआई जांच के लिए राजभवन का घेराव

डीएन संवाददाता

रायबरेली में हुए पांच हत्याकांड का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। इस कड़ी में आज लोगों ने प्रदर्शन कर राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा।

प्रदर्शन करते लोग
प्रदर्शन करते लोग

लखनऊ: रायबरेली के ऊंचाहार विधानसभा के इटौरा क्षेत्र में गत दिनों हुई 5 लोगों की हत्या का मामला अभी भी सुलग रहा है। मामले की सीबीआई जांच समेत मृतकों के परिजनों को 25 लाख का मुआवजा और सरकारी नौकरी देने की मांग लोगों द्वारा की जा रही है। इन्हीं मांगों को लेकर आज जय क्रांति मशाल के बैनर तले लोगों ने धरना दिया और राजभवन का सांकेतिक घेराव कर राज्यपाल को ज्ञापन दिया।

मौके पर पहुंची पुलिस

उल्लेखनीय है कि जून के अंतिम सप्ताह में इटौरा क्षेत्र में 5 लोगों की हत्या कर दी गई थी। मारे गए लोगों में रोहित शुक्ला, नरेश शुक्ला और बृजेश शुक्ला एक ही परिवार से थे। वहीं दूसरे 2 मृतक अनूप मिश्रा और अंकुर मिश्रा पड़ोसी बताये जा रहे हैं।

जय क्रांति मशाल के बैनर तले आज धरने पर बैठे लोगों का आरोप था कि ग्राम प्रधान राजा यादव और उनके लोगों ने मिलकर इस हत्या कांड को अंजाम दिया है। साथ ही उन्होंने इस हत्याकांड में कुछ ताकतवर लोगों के शामिल होने की भी बात कही। 

घटना की सीबीआई से जांच की मांग

धरना-प्रदर्शन कर रहे लोगों ने हत्याकांड की सीबीआई जांच की मांग करते हुये मृतकों के परिवार को पुलिस सुरक्षा दिये जाने की मांग की। आयोजक सौरभ सिंह ने मांग की है कि मृतकों के परिवार को 25-25 लाख मुआवजा और परिवार के एक सदस्य को सरकार नौकरी दी जाए।

अन्य हत्यारों को भी जल्द करें गिरफ्तार

धरने पर बैठे लोगों ने प्रदेश सरकार को एक हफ्ते का अल्टीमेटम देते हुये कहा की अगर सभी हत्यारों की जल्द गिरफ्तारी न हुई तो वे सभी लोग सरकार के खिलाफ सड़कों पर आन्दोलन करेगें। इस मौके पर सैकड़ों की तादाद में लोगों ने राजभवन का घेराव करने की भी कोशिश की, जिन्हें पुलिस ने रोक दिया। प्रदर्शनकारियों ने अपनी उक्त मांगों को लेकर राज्यपाल को ज्ञापन प्रेषित किया।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …