महराजगंज: नए शिक्षा सत्र से पहले बीएसए की दो टूक.. गैर मान्यता प्राप्त स्‍कूल खुले तो नपेंगे खंड शिक्षा अधिकारी

डीएन ब्यूरो

शिक्षा सत्र अगले एक सप्‍ताह में शुरू होने वाला है जिसे लेकर जिले के बीएसए ने पनियरा विकासखंड के प्राथमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षकों से बातचीत की। साथ ही स्‍कूल भवनों पर कब्‍जे आदि की जानकारी ली। पढ़ाई लिखाई सुचारू रूप से चले इसके लिए सभी बिंदुओं पर विस्‍तार से चर्चा की। पढ़ें डाइनामाइट न्‍यूज की विशेष खबर...


पनियरा (महराजगंज): अगले एक सप्‍ताह में शिक्षा सत्र शुरू होने वाला है। जिसे लेकर जिले के बीएसए ने पनियरा विकासखंड के  प्राथमिक और उच्च माध्यमिक के शिक्षकों से चर्चा की। साथ ही व्‍यवस्‍था में कोई व्‍यवधान न हो इसके लिए सभी आधे-अधूरे कार्यों और कमियों को जल्‍द से जल्‍द पूरा किया जाए।उन्‍होंने आगाह करते हुए कहा कि यदि गैर मान्यता प्राप्त विद्यालयों के संचालन होने की जानकारी मिली तो खंड शिक्षा अधिकारी (बीईओ) पर की कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें: हाजिरी लगाकर चले जाते थे प्रधानाध्यापक.. गुस्साए ग्रामीणों ने प्रधानाध्यापक कक्ष में लगाया ताला

महराजगंज बीएसए जगदीश शुक्ला नए सत्र की शुरुआत से पहले ही पनियरा विकासखंड के प्राथमिक और उच्च माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों के संग बीआरसी पनियरा में बैठक की। इस दौरान उन्‍होंने शिक्षकों से बिन्‍दुवार विद्यालयों की परिस्थिति सहित तमाम मुद्दों पर चर्चा की।

शिक्षकों के साथ चर्चा करते बीएसए

जिला शिक्षा अधिकारी (बीएसए) ने सर्वप्रथम सभी प्रधानाध्यापकों और शिक्षकों से विद्यालय के भवन और उनकी भूमि पर कब्‍जों को तत्काल हटवाने की हिदायत दी। उन्होंने विद्यालयों की बच्चों के बैठने के लिए बेंच, कुर्सियां और पेयजल के लिए सरकारी नलों को जल्‍द से जल्‍द दुरुस्‍त कराने की बात कही। 

यह भी पढ़ें: चोरों ने प्राथमिक विद्यालय को बनाया निशाना,एलईडी सहित हजारों की चोरी..

प्राथमिक स्‍तर पर पठन-पाठन व्यवस्था और बच्चों की संख्या बढ़ाने की बात कहते हुए उन्‍होंने सर्व शिक्षा अभियान की तरह प्रचार-प्रसार करने की बात कही। 

यह भी पढ़ें: जर्जर प्राथमिक विद्यालय की कक्षाओं का प्लास्टर गिरा, टला बड़ा हादसा, लापरवाही उजागर

इस दौरान एनपीआरसी के लोगों से भी अपने अपने क्षेत्र में चल रहे हैं गैर मान्यता प्राप्त विद्यालयों की सूची कार्यालय भेजने की बात कही। उन्‍होंने कहा इस सत्र में किसी भी दशा में क्षेत्र में गैर मान्यता प्राप्त विद्यालय नहीं चलने चाहिए। साथ ही यदि गैर मान्यता प्राप्त विद्यालयों के संचालन होने की जानकारी मिली तो खंड शिक्षा अधिकारी (बीईओ) पर की कार्रवाई की जाएगी।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार