लखनऊ: गंदगी फैलाने वाले हो जाएं सावधान..भरना पड़ सकता है 5000 रुपये तक का जुर्माना

डीएन संवाददाता

यूपी की राजधानी लखनऊ में सार्वजनिक स्थानों पर गंदगी फैलाने वाले लोगों के खिलाफ सरकार सख़्त कदम उठाने की तैयारी में है। जुर्माने के साथ-साथ आपको जेल की हवा भी खानी पड़ सकती है। डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..

गंदगी फैलाने पर जुर्माने के साथ-साथ खानी पड़ सकती है जेल की हवा
गंदगी फैलाने पर जुर्माने के साथ-साथ खानी पड़ सकती है जेल की हवा

लखनऊ: सार्वजनिक जगहों पर गंदगी फैलाने वाले और दीवारों पर गंदी-गंदी बातें लिखने वाले सावधान हो जाएं, क्योंकि ऐसे लोगों के खिलाफ नगर निगम ने कड़ा रुख अपनाया है। गंदगी फैलाने वालों को 5000 रुपये तक का जुर्माना भरने के साथ-साथ जेल की हवा भी खानी पड़ सकती है। लखनऊ नगर निगम के नगर आयुक्त इंद्रमणि त्रिपाठी ने एक आदेश जारी कर कहा है कि सार्वजनिक स्थानों पर कूड़ा करकट गंदगी समेत सार्वजनिक दीवारों पर वॉल पेंटिंग कराने वाले लोगों से नगर निगम जुर्माने के तौर पर 5000/- रुपये वसूल करेगा।

यह भी पढ़ें: लखनऊ: आईजी रेंज एसके भगत ने 26 जनवरी से पहले सुरक्षा संबंधी तैयारियों का लिया जायजा

जुर्माने के साथ-साथ खानी पड़ सकती है जेल की हवा
डाइनामाइट न्यूज़ संवाददाता से बात करते हुए अपर नगर आयुक्त अनिल कुमार मिश्र ने बताया कि जो भी लोग सार्वजनिक स्थानों पर गंदगी फैलाएंगे, उनसे जुर्माने की राशि उनके द्वारा किए गए अपराध के अनुसार वसूल की जाएगी जो कि अधिकतम 5000/- रुपये तक होगी। 

 

अपर नगर आयुक्त ने बताया कि लखनऊ को साफ सुथरा रखना लखनऊ वासियों की जिम्मेदारी है। ऐसे में लोगों से शहर को साफ सुथरा रखने में सहयोग करने की अपील की गई है। उन्होंने कहा कि सभी सार्वजनिक दीवारों को साफ कर उनकी पुताई करवाई जा रह है। ऐसे में यदि कोई साफ दीवारों को गंदा करने का दोषी पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कर्रवाई की जाएगी। उससे 5000/- रुपये तक का जुर्माना वसूला जा सकता है। यदि अपराध ज़्यादा गंभीर हुआ तो कारावास पर भी भेजा जा सकता है। 

यह भी पढ़ें: लखनऊ के पॉश इलाके में 10 फीट लंबा अजगर मिलने से मचा हडकंप
उन्होंने कहा कि सार्वजनिक जगहों पर कूड़ा फेंकने, दीवारों पर पान थूकने, पोस्टर लगाने, पेंटिंग करने या इश्तेहार आदि चिपकाने पर जुर्माना लगाया जा सकता है। दीवारों पर गंदी-गंदी बातें लिखने तथा सार्वजनिक जगहों पर शौच करने पर यह जुर्माना और कड़ा हो सकता है। 


 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

#DNPoll क्या लगता है इस बार के लोकसभा चुनाव में बेरोज़गारी व महँगाई जैसी असली समस्या मुद्दे बन पायेंगे?