बंदरों से तंग छत पर पड़ोसी ने छोड़ा करंट, छात्रा को लगा, मौके पर तोड़ा दम

डीएन ब्यूरो

कई बार हम ऐसी गलती कर बैठते है कि बाद में सिवाय पछतावे के हमारे पास कुछ बचता नहीं है। ऐसा ही लखनऊ के अमीनाबाद स्थित भूसा मंडी में हुआ जहां एक पड़ोसी ने बंदरों से बचने के लिए अपनी तरकीब लगाई जिसने उसकी पड़ोस में रहने वाली छात्रा की जिंदगी ही लील ली। डाइनामाइट न्यूज़ की स्पेशल रिपोर्ट

फाइल फोटो
फाइल फोटो

लखनऊः इंसान इतना स्वार्थी हो गया है कि वह सिर्फ अपने बारे में ही सोचता है। वहीं इसी स्वार्थीपन की वजह से कभी-कभी ऐसी स्थिति आती है जब वह सिर्फ पछतावे के अलावा और कुछ नहीं कर पाता है।  ताजा मामला अमीनाबाद के भूसा मंडी क्षेत्र का है। 

यहां बंदरों के आतंक से तंग आकर एक कपड़ा व्यापारी ने छत के चारों तरफ बने एंगल में करंट दौड़ा रखा था। इससे बंदरों से राहत तो नहीं मिली लेकिन वह एक बड़ी दुविधा में फंस गया। दरअसल हुआ यूं कि अमीनाबाद के भूसा मंडी में रहने वाली एक एमकॉम की छात्रा रिचा(24) इसी व्यापारी के पड़ोस में रहती थी। 

यह भी पढ़ेंः बड़ी कार्यवाही: 300 करोड़ के सड़क घोटाले में दो आईएएस अफसरों को किया गया सस्पेंड, लटकी गिरफ्तारी की तलवार

सांकेतिक तस्वीर

सोमवार की सुबह जब वह छत पर योग करने के लिए गई तो उसने झत पर एक पतंग पड़ी देखी। जब रिचा ने पतंग को उठाया तो उसका हाथ पतंग पर लगे मांझे की जगह बंधे तार पर लग गया। यह वहीं तार थी जिसमें करंट दौड़ रहा था इसका एक सिरा पड़ोसी की चत पर लगे दूसरे तार से फंसा हुआ था। इसे पकड़ते ही रिचा को करंट का तगड़ा झटका लगा। जब काफी देर बीत जाने पर भी छत से नीचे नहीं उतरी तो उसके मामा जिनके घर पर वह रह रही थी छत पर चढ़े। 

यह भी पढ़ेंः अमरोहाः कलयुगी मां नवजात को प्लास्टिक के बोरे में छोड़कर चली गई

उन्होंने देखा कि रिचा बेहोश हुई पड़ी है। इसके बाद वे उसे परिवार के अन्य सदस्यों के साथ तुरंत पास ही स्थित अस्पताल में ले गए। यहां पता चला कि रिचा को करंट लगा था। डॉक्टरों का कहना था कि उसे अगर समय पर अस्पताल में लाया जाता तो शायद उसकी जान बच जाती। तब तक बहुत देर हो चुकी थी और रिचा को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। इस पर जब घरवालों ने छत पर छानबीन की तो पता चला कि पड़ोसी ने अपनी छत पर करंट छोड़ा हुआ था। 

फाइल फोटो

जिसकी वजह से रिचा ने जो पतंग पर लगी तार पकड़ी उसे भी करंट का झटका लगा। अचानक हुए इस घटना की वजह से रिचा के मामा सदमे में है। क्योंकि रिचा के पिता राजेश 22 साल पहले लापता हो गए थे। इसके बाद रिचा के मामा देवेंद्र उसे अपने घर ले आए क्योंकि उनकी कोई संतान नहीं थी। 

रिचा की मां विनीता केसरवानी अपनी बड़ी बेटी सौम्या के साथ कौशाम्बी में रहती है। जबकि रिचा अपने पापा के लापता होने के बाद मामा के घर रह रही थी। उसके मामा ने अमीनाबाद कोतवाली में पड़ोसी आरिफ खान के खिलाफ मामले की शिकायत की है। पुलिस फिलहाल मामले में छानबीन पर जुट गई है।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …