उपचुनाव: कैराना में 49 और नूरपुर में 57 फीसदी मतदान, EVM में गड़बड़ी के कारण कई बूथों पर दोबारा वोटिंग की मांग

डीएन ब्यूरो

पश्चिमी उत्तर प्रदेश की कैराना लोकसभा और नूरपुर विधानसभा उपचुनाव में ईवीएम में गड़बड़ी के कारण कई बूथों पर मतदान अलग-अलग समय के लिये बाधित रहा। वोटरों को भी काफी परेशानियों झेलनी पड़ी। पूरी खबर..

पोलिंग सेंटर के बाहर मतदाता
पोलिंग सेंटर के बाहर मतदाता

मुजफ्फरनगर: पश्चिमी उत्तर प्रदेश की कैराना लोकसभा और नूरपुर विधानसभा उपचुनाव में ईवीएम में गड़बड़ी के कारण दिनभर मतदान कई बार बाधित हुआ लोगों को भीषण गर्मी के कारण भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। भाजपा समेत विपक्षी दलों ने चुनाव आयोग से ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायतों चुनाव आयोग से की हैं।

यह भी पढ़ें: कैराना उपचुनाव: वोटिंग के दौरान पथराव, ग्रामीणों का आरोप- पुलिस ने की 5 राउंड फायरिंग, कई घायल 

कैराना लोक सभा सीट के लिये शाम पांच बजे तक 49 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया जबकि नूरपुर उपचुनाव में 57 प्रतिशत वोटिंग दर्ज की गयी। पांच बजे तक कई लोग मतदान के लिये कतार में खड़े थे, जिन्हें पांच बजे बाद तक भी वोटिंग की इजाजत दी गयी है।

यह भी पढ़ें: कैराना-नूरपुर उपचुनाव: EVM मशीनों में गड़बड़ी पर सपा-भाजपा एक, निर्वाचन आयोग से मिला प्रतिनिधिमंडल 

भाजपा के एक प्रतिनिधिमंडल ने कैराना लोकसभा उपचुनाव की वोटिंग के दौरान ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायत को लेकर दिल्ली में चुनाव आयोग से भेंट की और लगभग 197 बूथों पर दोबारा वोटिंग कराने की मांग की।

यह भी पढ़ें: लखनऊ: सपा ने कैराना-नूरपुर उपचुनाव में भाजपा पर लगाया सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग का आरोप

उपचुनाव के दौरान करीब कई पोलिंग बूथों पर ईवीएम में खराबी के कारण लोगों को काफी समय पर इंतजार करना पड़ा। 

कैराना लोकसभा उपचुनाव के लिए दोपहर 1 बजे तक यहां 30.61 फीसदी वोटिंग दर्ज की गई है। जबकि नूरपुर विधानसभा उपचुनाव में 1 बजे तक 33.00 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया।
कैराना लोकसभा सीट बीजेपी सांसद हुकुम सिंह के बाद खाली हुआ था। कैराना में 16.09 लाख मतदाता हैं जबकि 12 प्रत्याशी मैदान में है। 

नूरपूर विधानसभा की सीट बीजेपी विधायक लोकेंद्र सिंह चौहान की सड़क हादसे में मौत के बाद खाली हुई थी। नूरपुर विधानसभा क्षेत्र में 3.06 लाख मतदाता है, जबकि 10 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। लोकसभा और विधानसभा सीटों के चुनाव के नतीजे 31 मई को घोषित किए जाएंगे।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार