गरीब मृत बच्चों के परिवार के लिए किसी तरह के मुआवजे का कोई ऐलान नहीं, आखिर क्यों?

डीएन ब्यूरो

गोरखपुर में हुए हादसे के मामले में स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने सफाई पेश की, लेकिन इस सफाई में मृत बच्चों को मिली सिर्फ संवेदनाएं..

प्रेस कांफ्रेंस के दौरान स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह
प्रेस कांफ्रेंस के दौरान स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह

गोरखपुर: बीआरडी मेडिकल कालेज में बीते 24 घंटों में दर्जनों मौतें हुई और इसके बाद भी उन्हें सिर्फ संवेदनाएं ही मिली। आज स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और चिकित्सा शिक्षा मंत्री सरकारी अस्पताल पहुंचे। प्रशासन के साथ घंटों बैठक के बाद उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस कर हादसे के लिए सफाई पेश की।

यह भी पढ़ें: गैस सप्लाई की कमी के कारण नहीं हुई बच्चों की मौत: स्वास्थ्य मंत्री

इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि आक्सीजन की कमी के कारण बच्चों की मौत नहीं हुई, तो मौत हुई कैसे? इसका जवाब देने में मंत्री विफल रहे। इतना ही नहीं इतने बड़े स्तर पर हुई मौतों के बाद भी मृतकों को सिर्फ संवेदनाएं ही मिलीं, उनके लिए किसी भी तरह के कोई मुआवजे का ऐलान नहीं किया गया। इससे ये कहना गलत नहीं होगा कि राज्य सरकार इस हादसे से अपना पलड़ा झाड़ती नजर आ रही है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार