गुलाम नबी आजाद: सीएम मांगे माफी और स्वास्थ्य मंत्री दें इस्तीफा

डीएन ब्यूरो

मासूमों की मौत की जिम्मेदारी को लेकर योगी सरकार विपक्षों के सवालों के घेरे में है। इस घटना के लिए विपक्षी दलों का वार तेज हो गया है कि जिन मासूमों की मौत हुई है, उसकी भरपाई कौन करेगा?

गुलाम नबी आजाद
गुलाम नबी आजाद

गोरखपुर: जिले के सरकारी अस्पताल में हुई 63 मासूमों की मौत पर अब सियासत तेज हो गई है। बीआरडी मेडिकल कालेज पहुंचे कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि स्वास्थ्य मंत्री और चिकित्सा शिक्षा मंत्री दोनों को इस्तीफा देना चाहिए। मुख्यमंत्री अपने कर्तव्य से भाग नहीं सकते।

कांग्रेस ने इस घटना के लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि यह बहुत दुखद घटना है और ये राज्य सरकार की नाकामी का नतीजा है। मुख्यमंत्री को माफी मांगनी चाहिए और स्वास्थ्य मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए।

योगी सरकार की नाकामी पर विपक्ष का वार तेज हो गया है। विपक्षी दल सीधे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साध रहे हैं। बता दें कि आज कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद, राज बब्बर, संजय सिंह और प्रमोद तिवारी अस्पताल पहुंचे।

क्या थी घटना

शहर के नामचीन बाबा राघव दास मेडिकल कालेज में ऑक्सीजन सप्लाई जबरन ठप कर देने के कारण कई मरीजों ने तड़प-तड़प कर दम तोड़ दिया। मरने वालों में ज्यादातर संख्या मासूमों की थी।  मेडिकल कालेज को आक्सीजन सप्लाई करने वाली एजेंसी का 68 लाख रुपए का भुगतान बकाया था जिसके चलते 10 अगस्त की शाम को फर्म ने अस्‍पताल में लिक्विड ऑक्‍सीजन की आपूर्ति ठप कर दी। इसके बाद इस बड़े हादसे का शिकार मासूमों को होना पड़ा।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार