योगी सरकार के खिलाफ कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर कम्यूनिस्ट पार्टी ने दिया धरना..

डीएन संवाददाता

योगी सरकार के कार्यकाल में हुए आपराधिक घटनाओं को लेकर सरकार के खिलाफ सीपीआई-एम ने धरना देकर इसे रोकने की मांग की।

धरना  देते  कम्यूनिस्ट पार्टी  के लोग
धरना देते कम्यूनिस्ट पार्टी के लोग

लखनऊ: यूपी मे भाजपा की सरकार बन अभी थोड़े ही दिन हुए हैं लेकिन इन थोड़े ही दिनों में अलग-अलग अपराधों के कई संगीन मामलें सामने आए है। राज्य में अपराध और दंगों को लेकर सीपीआई-एम ने योगी सरकार के खिलाफ राजधानी के लक्ष्मण मेला मैदान में धरना दिया। इस धरना का मकसद आपराधिक घटनाओं को रोकना है। वहीं इस धरने में बड़ी तादाद में लोग मौजूद थे।

कानून-व्यवस्था खराब होने का लगाया आरोप

सीपीआई-एम ने मौजूदा सरकार में कानून-व्यवस्था बेहद खराब होने का आरोप लगाया। सहारनपुर के दंगो को लेकर कहा कि दलितों के ऊपर अत्याचार किये गयें और उसके लिये आवाज उठाने वालों को जेल भेज दिया गया। साथ ही सीपीआई-एम ने आरोप लगाया की भाजपा के लोग कानून अपने हाथों मे ले रहे हैं।

सीपीआई-एम ने पिछले दिनों सीएम योगी को काले झंडे दिखाने वाले छात्रों को रिहा करने और विश्वविद्यालय से उनका निलंबन वापस लेने की मांग की। उन्होनें कहा की छात्रों का पेशेवर अपराधियों की तरह उत्पीड़न हो रहा है।

धरना  देते  कम्यूनिस्ट पार्टी  कार्यकर्ता

किसान के साथ धोखा करने का लगाया आरोप

सीपीआई-एम ने कहा की योगी सरकार किसानों की कर्जमाफी का वादा कर सत्ता में आई थी। लेकिन सत्ता में आने के बाद भी कर्जमाफी का मामला लटका पड़ा है जिसकी वजह से राज्य के किसान आत्महत्या करने को मजबूर हैं।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार