जरा सी भी लापरवाही बना सकता है डेंगू का शिकार, जानिए किस तरह करें बचाव

डीएन ब्यूरो

सर्दियां शुरू होते ही डेंगू के मच्छर भी अपने पैर पसारने लगते हैं। खासतौर से दिल्ली-एनसीआर समेत बिहार और उत्तर प्रदेश में डेंगू के मामले सबसे ज्यादा देखने को मिलते हैं। ऐसे में बहुत बच्चों का खास ख्याल रखना बहुत जरूरी है जिससे वो डेंगू की चपेट में ना आए। जानिए, इस बुखार के लक्षण और बचाव के तरीके..

डेंगू से बरतें सावधानी
डेंगू से बरतें सावधानी

नई दिल्लीः डेंगू बुखार एडीज इजिप्टी मच्छर के काटने से होता है। मच्छर के काटने के करीब 3-5 दिनों के बाद मरीज में डेंगू बुखार के लक्षण दिखने लगते हैं। डेंगू फैलाने वाले एडीस मच्छर को पूरी तरह से खत्म करना संभव नहीं है। सही समय पर सही इलाज ना होने के कारण डेंगू मौत का कारण भी बन सकता है। इसलिए जरूरी है कि समय रहते पहले ही कुछ सावधानियां बरतें, जिससे डेंगू आपसे और आपके परिवार से दूर रहे। जानें डेंगू बुखार से बचाव के तरीकेः-

यह भी पढ़ें: बच्चों के लिए कितना जरूरी है मां का दूध? 

1. आउटडोर में पूरी बांह की शर्ट, बूट, मोजे और फुल पैंट पहनें। खासकर बच्चों के लिए इस बात का जरूर ध्यान रखें।

2. . घर के आसपास या घर के अंदर पानी नहीं जमने दें। कूलर, गमले, टायर इत्यादि में जमे पानी को तुरंत बहा दें।

3. सबसे पहले नजदीकी डॉक्टर से सहायता लें और खून में प्लेटलेट्स की जांच करवा लें।

4.  कमरे में मच्छर भगानेवाले स्प्रे, मैट्स, कॉइल्स आदि का प्रयोग करें। 













संबंधित समाचार