उपचुनावों में जीत की रणनीति बनाने में जुटी बसपा सुप्रीमो ने की अहम बैठक

डीएन ब्यूरो

समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन तोड़ने के बाद बसपा सुप्रीमो अपने चुनावी रण पर जुट गई हैं। पहले दिल्‍ली में समीक्षा बैठक और अब उपचुनावों को लेकर जोनल कोऑर्डिनेटरों के साथ बैठक कर वह 100 फीसदी पक्‍की जीत की रणनीति बनाने मं जुटी हुई हैं। एक्‍सक्‍लूसिव खबर पढ़ें डाइनामाइट न्‍यूज पर..


लखनऊ: बसपा सुप्रीमो मायावती 12 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव और 2022 के विधान सभा चुनावों को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसी क्रम में मंगलवार को पश्चिम यूपी के सभी पांच और बुंदेलखंड के चार मंडल के पदाधिकारियों व नेताओं की बैठक हो रही है।

यह भी पढ़ें: 17 जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल करने पर मायावती ने साधा निशाना, कहा-धोखा दे रही सरकार

बसपा प्रदेश मुख्‍यालय पर हुई बैठक में बरेली, चित्रकूट, कानपुर, झांसी, मेरठ, सहारनपुर, मुरादाबाद, आगरा व अलीगढ़ मंडल के पदाधिकारी, सांसद और तमाम अन्‍य नेता शामिल हुए। माना जा रहा है कि इस तरह की बैठकें अब जारी रहेंगी। क्‍योंकि मायावती देशभर में बसपा का विस्तार करने, नई रणनीति बनाने, उत्तर प्रदेश उपचुनाव की तैयारियों और पार्टी में बदलाव को लेकर चर्चा करेंगी।

बसपा प्रमुख मायावती (फाइल फोटो)

बैठक में उपचुनाव का मुद्दा सबसे अधिक चर्चा में रहा। उपचुनाव में पार्टी क्‍या रणनीति रहेगी, कैसे बसपा से अधिक-अधिक लोगों को जोड़ा जा सके इस पर भी चर्चा की गई। हालांकि बैठक से निकलने के बाद बसपा नेताओं ने मीडिया से बातचीत से मना कर दिया।

मीडिया में बात करने से बचते रहे बसपा नेता

माना जा रहा है कि मायावती की चुनावी रणनीति का ही हिस्‍सा है कि कार्यकर्ताओं को मीडिया में बयानबाजी करने से रोका जाए। क्‍योंकि मीडिया में बयानबाजी चुनावी रणनीति को सबसे अधिक नुकसान पहुंचाती है। वैसे अगर देखा जाए तो मायावती का मीडिया से कभी बहुत अच्‍छा संबंध नहीं रहा है। 

यह भी पढ़ें: मायावती ने अपने भाई व भतीजे को बनाया बसपा का पदाधिकारी- भाई आनंद होंगे राष्ट्रीय उपाध्यक्ष तो भतीजे आकाश बने नेशनल को-आर्डिनेटर

वहीं इसी हफ्ते लखनऊ, इलाहाबाद, वाराणसी, मिर्जापुर, आजमगढ़, गोरखपुर, देवीपाटन, बस्ती व फैजाबाद मंडल के पदाधिकारियों की भी बैठकें होंगी। 

यह भी पढ़ें: बीएसपी की बैठक में मारपीट, हंगामा और चले चाकू, मचा बड़ा बवाल

गौरतलब है कि मायावती विधानसभा उपचुनाव वाले क्षेत्रों में सेक्टर व बूथ कमेटियों के प्रभारियों को निर्देश दिया जा चुका है। ज्ञात हो कि संगठन संचालन के लिए बसपा सुप्रीमो ने पूरे यूपी को चार सेक्टरों में बांटा है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …