गठबंधन पर बोलीं मायावती, राहुल-सोनिया चाहते हैं लेकिन दिग्विजय सिंह नहीं

डीएन संवाददाता

बसपा सुप्रीमों मायावती ने आगामी विधान सभा चुनावों के मद्देनजर गठबंधन पर कांग्रेस के नेता दिग्विजय सिंह के बयान को लेकर इन पर जबरदस्त हमला बोला। मायावती ने कहा कि दिग्विजय सिंह झूठ बोल रहे हैं। डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट

प्रेंस कॉन्फ्रेंस करती मायावती
प्रेंस कॉन्फ्रेंस करती मायावती

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने आगामी विधान सभा और उसके बाद लोक सभा चुनावों में कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर बड़ा बयान दिया है। कांग्रेस के नेता दिग्विजय सिंह हमला बोलते हुए मायावती ने कहा कि राहुल और सोनिया गांधी दिल से बसपा के साथ गठबंधन करना चाहते है, लेकिन दिग्विजय सिंह जैसे कुछ स्वार्थी नेता ऐसा नहीं चाहते है। 

दिग्विजय एक स्वार्थी नेता

मायावती ने दिग्विजय सिंह के उस बयान को सरासर गलत बताया जिसमें उन्होंने कहा कि मायावती सीबीआई से डरी हुई है। मायावती ने कहा कि दिग्विजय एक स्वार्थी नेता है, जो कांग्रेस पार्टी को गुमराह कर रहे है। दिग्विजय नहीं चाहते कि बसपा से गठबंधन हो। उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह भाजपा के एजेंट है। दिग्विजय सिंह सीबीआई और ईडी से खुद डरे हुए है।

कांग्रेस का नहीं गया अहंकार

इस मौके पर मायावती ने कांग्रेस की नीतियों पर भी सवाल खड़े किये। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा दगाबाजी की है और हमेशा पीछे से पीठ पर छुरा घोंपा है। कांग्रेस का अहंकार सिर बोलकर चढ रहा है। कांग्रेस ऐसी पार्टी है, जिसकी रस्सी तो जल गयी पर उसका बल नहीं गया। 

राजस्थान और मध्य प्रदेश में बसपा लड़ेगी अकेले

मायावती ने कहा कि मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस फिर एक बार भाजपा को जीत का मौका दे रही है। उन्होंने कहा कि बसपा दलितों के मुद्दे पर कभी समझौता नहीं करेगी। मायावती ने कहा कि राजस्थान और मध्य प्रदेश में उनकी पार्टी अकेल चुनाव लड़ेगी जबकि छत्तीसगढ़ में पार्टी क्षेत्रीय दलों के साथ गठबंधन कर सकती है। उन्होंने कहा कि बसपा दलितों, गरीबों और पिछड़ों की पार्टी है, इसलिये अपने सिद्धांतों से कोई समझौता न करते हुए यह फैसला लिया गया है। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार