इलाहाबाद में डीआईजी के बेटे की गोली मारकर हत्या

डीएन संवाददाता

इलाहाबाद में बदमाशों ने डीआईजी के बेटे की गोली मारकर हत्या कर दी। बदमाशों ने युवक की पत्नी के सामने गोली मारी।

डीआईजी के बेटे की गोली मारकर हत्या
डीआईजी के बेटे की गोली मारकर हत्या

इलाहाबाद: सिविल लाइंस थाना क्षेत्र में बदमाशों ने देर रात युवक की गोली मारकर हत्या कर दी। सरोजनी नायडू मार्ग पर एजी आफिस के सामने रिटायर डीआईजी स्टांप त्रिलोचन सिंह के बेटे धीरज सिंह (36) को गोली मारी। धीरज सिंह एडीए और पीडब्लडी में ठेकेदारी करते थे।

बदमाशों ने धीरज की पत्नी के सामने उसे गोली मार दी। छर्रा लगने से पत्नी निधि भी जख्मी हो गईं। पुलिस टीमें शूटर की तलाश में दबिश दे रही हैं। हत्या का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। कई बिंदुओं पर जांच की जा रही है। धीरज को एसआरएन अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। सीओ सिविल लाइंस डीपी तिवारी ने बताया कि कार में 32 बोर की पिस्टल का एक खोखा मिला है। जांच की जा रही है।

सीओ सिविल लाइंस डीपी तिवारी ने बताया कि कार में 32 बोर की पिस्टल का एक खोखा मिला है। जांच की जा रही है।

प्रतापगढ़ के राजगढ़ निवासी त्रिलोचन सिंह आइजी स्टांप के पद से रिटायर्ड थे। उनकी मौत हो चुकी है। उनके तीन बेटों में धीरज सिंह सबसे छोटा था। वह पत्नी के साथ अल्लापुर के बाघम्बरी में रहते थे। धीरज की शादी पांच साल पहले हुई थी।

कब और कैसे हुई वारदात

धीरज रात में पत्नी के साथ कार से घर लौट रहे थे। रास्ते में एजी आफिस के सामने और पुलिस मुख्यालय के पास हरीश ढाबे से धीरज ने खाना पैक कराया। जैसे ही वह कार के पास पहुंचे कि हत्यारों में से एक ने उनके नजदीक पहुंचकर सीने से सटाकर गोली चला दी। गोली लगते ही वह लहूलुहान होकर गिर गए। हमलावरों ने कार का शीशा तोड़कर चाबी निकालने का प्रयास किया। गोली चलने की आवाज सुनकर आसपास के लोग घटना स्थल की ओर दौड़े तो एक हमलावर पैदल ही राजापुर की ओर भाग निकले।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार