प्रदेश की कानून व्यवस्था पर अखिलेश यादव का योगी सरकार पर हमला

डीएन संवाददाता

प्रदेश में लगातार बढ़ रही आपराधिक घटनाओं को लेकर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने मथुरा और मेरठ की घटना पर सरकार को आड़े हाथ लिया है।


लखनऊः लखनऊ में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए राज्य की योगी सरकार पर जमकर हमला बोला। 

खास बातें

1. अखिलेश ने औंरैया पुलिस पर भाजपा सरकार से मिले होने का आरोप लगाया।

2.  मथुरा और मेरठ की घटना पर सरकार को आड़े हाथ लिया।

3. सरकार की नीयत साफ नही हैं, ये नहीं चाहते हैं कि कानून व्यवस्था बेहतर हो।

4. चुनाव आयोग और सीबीआई से विपक्षियों को डराएंगे।

5. सपा ने 40 हजार भर्तियां की, मौजूदा सरकार में बेरोजगारी बढ़ गयी है, पुलिस भर्ती रोक दी गयी है।

6. भाजपा के लोग ही कानून व्यवस्था बिगाड़ रहे हैं।

7. रोजगार के मोर्चे पर भी फेल रही है योगी सरकार।

8. भाजपा के पास मुद्दों से जनता का ध्यान हटाने की कला है। 

9. किसानों की समस्या को लेकर भाजपा सरकार के खिलाफ धरना-प्रदर्शन करेगी सपा।

10. जीएसटी और नोटबंदी ने देश की अर्थव्यस्था को तबाह किया और बड़ी मात्रा में नौकरियां छीनी। 

11. हमारे साथी किसान हैं और आलू पैदा करते हैं। उन्होंने ही फेंका था आलू राजभवन के सामने।

12. गाय भैंस भी हैं हमारे पास, सरकार बताए उसके पास कितनी हैं।

13. हमारी योजनाओं का श्रेय लेती है योगी सरकार, अपना योगदान गिनाने को कुछ नहीं है। 

14. कई अन्य पार्टियों के कई लोग सपा में हुए शामिल, सपा अध्यक्ष ने किया सबका स्वागत।

15. रोजगार के मामले में सपा ने बहुत काम किया, भाजपा ने प्रदेश में युवाओं के रोजगार के द्वार बंद कर दिये हैं।

16. सपा की सरकार आएगी तो 30 लाख से कम कीमत वाली गाड़ियों पर कोई टोल टैक्स नहीं लगेगा।

17. पूर्व बसपा विधायक समेत कई पार्टियों के नेता सपा में हुए शामिल।

18. हमारी सरकार की प्राथमिकता में विकास होगा। 

19. हम अपने जाति समाज के लोगों को जोड़ेंगे। हम पर जातिवादी होने का आरोप लगाया जाएगा। पर हम जोड़ेगें।

विभिन्न दलों के तमाम नेताओं ने की सपा ज्वाइन

समाजवादी पार्टी में शामिल होने वालों में बसपा छोड़कर आये पूर्व विधायक श्री बब्बन सिंह चौहान (चंदोली), छोटे लाल गंगवार (बरेली, पूर्व जिलाध्यक्ष चंदौली छविनाथ चौहान, दिनेश निषाद (गोरखपुर), अगम मौर्य (बरेली), श्रवण कुमार आजाद (रायबरेली), सतीश काका जाटव (अलीगढ़), केके अरविन्द (पीलीभीत), पंकज गौतम (बलिया), एडवोकेट अवधेश विश्वकर्मा पूर्व जिलाध्यक्ष, मदनलाल अहिरवाल, प्रीतम सिंह प्रेमी, फिरोज खान एवं संजीव सिंह दागी (झांसी), इंजीनियर संतोष जाटव (फिरोजाबाद), अश्वनी दोहरे एवं यदुनाथ सिंह दोहरे (कन्नौज), रवि भारती (बुलंदशहर), राजवर्धन जाटव (अमरोहा) जयवीर सिंह रावत (हरदोई), शशांक शेखर एवं शैलेश कुमार आर्य (लखनऊ), चौहान समाज के राष्ट्रीय महासचिव राम सिंह चौहान, जगत नारायण चौहान, जिऊत चौहान, लालब्रत चैहान, गुरूभारी चौहान, घनश्याम चौहान, चेतन चौहान, ओम प्रकाश चौहान, शिव नारायण चौहान, सरवन कनौजिया, विजेन्दर बियार, राकेश गुप्ता, अशोक कुमार दूबे, सुशील कुमार मिश्र, गुलाब सिंह प्रमुख हैं।













संबंधित समाचार