योगी सरकार का बड़ा फैसला, रद्द की गयी पूर्व सरकार की स्मार्टफोन योजना

डीएन संवाददाता

उत्तर प्रदेश की कमान संभालने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक के बाद एक बड़े फैसले ले रहे हैं। सत्ता में आने के एक महीने बाद ही योगी सरकार ने पूर्व अखिलेश सरकार के समय शुरु की गई स्मार्टफोन योजना को रद्द कर दिया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फ़ाइल फ़ोटो)
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फ़ाइल फ़ोटो)

लखनऊ: यूपी में योगी सरकार ने अपने एक महीने पूरे कर लिए हैं। इस एक महीने में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कई बड़े फैसले लिए हैं। सत्ता संभालते ही योगी सरकार सभी योजनाओं से समाजवादी नाम हटाने में लगे हैं। अब योगी सरकार ने बुधवार को पूर्व सीएम अखिलेश यादव सरकार की चर्चित स्मार्टफोन योजना को रद्द कर दिया है। इस योजना के तहत 5 करोड़ लोगों को काफी सस्ते दाम पर स्मार्टफोन मुहैया कराना था।

यह भी पढ़ें: भू-माफियाओं के खिलाफ शिकंजा कसने की तैयारी में योगी सरकार, टास्क फोर्स का किया गठन

पूर्व सीएम अखिलेश यादव सरकार की स्मार्टफोन योजना

गौरतलब है कि अखिलेश यादव ने यह योजना अपने कार्यकाल के अंतिम दिनों में लॉन्च की थी। इस योजना का लक्ष्य सीधे जनता तक पहुंचने का था। सरकार का मानना था कि इसके जरिए वह सभी योजनाओं की जानकारी आसानी से पहुंचाई जा सकती थी। योजना के तहत लगभग 1 करोड़ से ज्यादा रजिस्ट्रेशन हो चुके थे।

यह भी पढ़ें: अखिलेश यादव ने हटाये नोएडा, कानपुर देहात, हापुड़ औऱ मेरठ के जिलाध्यक्ष

इससे पहले योगी सरकार ने अखिलेश सरकार की सभी योजनाओं में से समाजवादी नाम हटाया था। समाजवादी पेंशन योजना, समाजवादी एंबुलेंस सेवा व अन्य कई योजनाओं से समाजवादी नाम हटाया गया था। वहीं अखिलेश यादव की तस्वीर वाले राशनकार्ड वापिस लेने का फैसला भी किया था। योगी ने लखनऊ के गोमती रिवर फ्रंट को बनाने में आये खर्च को लेकर जांच के आदेश भी दिये हैं।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार