महराजगंजः अपने ही बाप की संपत्ति के लिए दर-दर भटक रहा एक बेटा

डीएन ब्यूरो

एक व्यक्ति अपने ही पैतृक सम्पत्ति के लिए दर-दर भटक रहा है। शिकायत करने पर ना कोई सुनवाई हो रही है और ना ही कोई कार्यवाई। फर्जीवाड़ा इस कदर बढ़ रहा है कि एक इंसान को अपने हक पाने के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर...

सदर तहसील(फाइल फोटो)
सदर तहसील(फाइल फोटो)

महराजगंजः जिले में राजस्व विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है। जहां एक पीड़ित अपने ही पैतृक सम्पत्ति को पाने के लिए दर-दर भटक रहा है। शिकायत करने के बाद भी किसी तरह की कार्यवाई नहीं की जा रही है।

यह भी पढ़ेंः ट्रक और ट्रेलर में आमने-सामने हुई जबरदस्त टक्कर, उड़े परखच्चे

जानकारी के अनुसार सदर तहसील के बरवाखुर्द निवासी रामप्रसाद शुक्ल पुत्र चुनमुन ने जिलाधिकारी को दिए शिकायती पत्र में कहा है कि मेरे बाप के नाम से रिजर्व खतौनी 1969 तक दर्ज है। पीड़ित के पिता स्वामीनाथ के स्वर्गवास हो जाने के बाद पट्टीदार राजस्व विभाग की मिली भगत के फर्जी आदेश से नाम चढ़वा लिया और बिना जांच किए राजस्व के लोगों ने वो सम्पत्ति किसी और को दे दी।

यह भी पढ़ें: ICICI Bank में 40 लाख रूपए की लूट, शटर बंद कर वारदात को दिया अंजाम

फर्जीवाड़ा का चरम इस कदर है कि आदेशों के नीचे ना कोई मोहर है या दस्तखत भी नही है। पीड़ित ने कहा कि खेती की जमीन बरवाखुर्द में चुनमुन को 1/2 का हिस्सा मिला है। बाग की जमीन पुरैना खंडी चौरा तप्पा- मटकोपा आराजी नम्बर 1347 पुराना नम्बर 1567 का है। फर्जी आदेश के तहत पीड़ित के बाबा को कोई लड़का ही नहीं है और खतौनी में नाम दर्ज करें। राजस्व विभाग की इस बड़ी लापरवाही और फर्जीवाड़े की शिकायत जिकाधिकारी, पुलिस अधीक्षक से कर के पीड़ित ने न्याय की गुहार लगाई है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार