Uttar Pradesh: योगी आदित्यनाथ ने कहा विकास का लाभ हर किसी तक पहुंचाने के लिए तकनीक का करें इस्तेमाल

डीएन ब्यूरो

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सतत विकास के लक्ष्यों का लाभ वंचित वर्गों तक पहुंचाने के उद्देश्य से तकनीक का प्रयोग किया जाए।

योगी आदित्यनाथ
योगी आदित्यनाथ

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सतत विकास के लक्ष्यों का लाभ वंचित वर्गों तक पहुंचाने के उद्देश्य से तकनीक का प्रयोग किया जाए।  मुख्यमंत्री कल शाम अपने सरकारी आवास पर सतत विकास लक्ष्य उत्तर प्रदेश विज़न-2030 के तहत लक्ष्यों के अनुसार नोडल विभागों की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि सभी नोडल वि

यह भी पढ़ें:  Lucknow: सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस, भाजपा पर साधा निशाना

भाग तथा उनके साथ लिंक किए गए विभाग यूपी से सम्बन्धित फोकस सेक्टरों पर काम करें और इस सम्बन्ध में सभी विभाग विस्तृत रिपोर्ट एक सप्ताह के अंदर मुहैया कराएं। इस कार्य को तेजी से किया जाए, क्योंकि सभी नोडल विभागों के तहत निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए किए गए कार्यों की अद्यतन स्थिति/रिपोर्ट का प्रकाशन 20 सितम्बर तक हर हाल में किया जाना है। उन्होंने कहा कि सभी विभाग आपसी समन्वय बनाते हुए निरन्तर प्रयास करें और सम्बन्धित रिपोर्ट तैयार करें।

यह भी पढ़ें: सांसद पंकज चौधरी, विधायक जयमंगल कन्नौजिया मुर्दाबाद और हाय-हाय के नारों से गूंजा महराजगंज

योगी ने उत्तर प्रदेश के लिए निर्धारित 16 एसडीजी लक्ष्यों, जिनमें नो पावर्टी (ग्राम्य विकास), जीरो हंगर (कृषि), गुड हेल्थ एण्ड वेल बींग (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य), क्वालिटी एजुकेशन (माध्यमिक शिक्षा), जेण्डर इक्वालिटी (महिला कल्याण), क्लीन वाॅटर एण्ड सैनीटेशन (सिंचाई), एफोर्डेबल एण्ड क्लीन इनर्जी (ऊर्जा), डीसेण्ट वर्क एण्ड इकोनाॅमिक ग्रोथ (सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग), इण्डस्ट्री इनोवेशन एण्ड इन्फ्रास्ट्रक्चर (औद्योगिक विकास), की विस्तृत समीक्षा की।

यह भी पढ़ें: काश.. योगी आदित्यनाथ से कुछ सीखा होता सांसद पंकज चौधरी और विधायक जयमंगल कन्नौजिया ने!

उन्होंने इन एसडीजी के नोडल विभागों, जिनमें ग्राम्य विकास, कृषि, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, माध्यमिक शिक्षा, महिला कल्याण, सिंचाई, ऊर्जा, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग, औद्योगिक विकास, नगर विकास, समाज कल्याण, पर्यावरण, वन, वित्त, पंचायती राज एवं गृह सम्मिलित हैं, के अपर मुख्य सचिवों, प्रमुख सचिवों तथा सचिवों से उनसे सम्बन्धित लक्ष्यों को प्राप्त करने के सम्बन्ध में किए जा रहे प्रयासों/कार्यों के विषय में विस्तृत जानकारी ली। उन्होंने निर्देश दिए कि सभी नोडल विभाग स्वयं से लिंक्ड विभागों के साथ समन्वय स्थापित करते हुए सतत् विकास के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए परिणामपरक कार्य करें। (वार्ता )

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार