योगी सरकार ने पेश किया 3.84 लाख करोड़ का सबसे बड़ा बजट

डीएन संवाददाता

सूबे की योगी सरकार ने आज यूपी विधानसभा में अपना पहला बजट पेश किया, जो राज्य में अब तक पेश किये गये सभी बजटों में सबसे बड़ा बजट है।

यूपी विधानसभा में बजट पेश करने जाते सीएम योगी आदित्यनाथ
यूपी विधानसभा में बजट पेश करने जाते सीएम योगी आदित्यनाथ

लखनऊ: सूबे की योगी सरकार ने आज यूपी विधानसभा में अपना पहला बजट पेश किया, जो राज्य में अब तक पेश किये गये सभी बजटों में सबसे बड़ा बजट है। सरकार ने कुल 3.84 लाख करोड़ का बजट विधानसभा में पेश किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मौके पर कई लोक लुभावन घोषणाएं भी की। उनका यह बजट केंद्र के बजट से काफी मिलता-जुलता है।

विधानसभा सत्र की शुरूआत में मौन रखकर देश के शहीदों को श्रद्धांजलि दी। बजट पेश करने के पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अमरनाथ श्रद्धालुओं पर हमला कायराना घटना है, इस आतंकवादी हमले की निंदा करता हूं। सावन में होने वाली कावंड़ यात्रा के लिए श्रद्धालुओं को कुछ निर्देश देते हुए कहा कि किसी प्रकार की अप्रिय घटना रोकने के लिए सख्त कार्यवाही की जाए। सीएम योगी के संबोधन के बाद वित्तीय मंत्री राजेश अग्रवाल ने यूपी का बजट पेश किया। 

यूपी बजट- 2017 की मुख्य बातें

1. गरीब, बेरोगार, किसानों के लिए हमारा बजट है, बजट में शहर और ग्रामीण सभी वर्गों का ध्यान रखा गया

2. मेट्रो, पूर्वांचल एक्सप्रेस और रोजगार सृजन पर पूरा ध्यान, सरकार जल्द ही लाएगी टेक्सटाइल नीति

3. जीएसटी का उद्देश्य कर की समान व्यवस्था लागू करना है, एक राष्ट्र-एक टैक्स की व्यवस्था को लागू किया गया।

4. किसान उत्पादों पर कर की दर शून्य रखी गई, छोटे वर्ग के व्यापारियों को पंजीकरण में छूट भी दी गई

5. बड़े वर्ग के व्यापारियों को सरल तरीके से ऑनलाइन पंजीकरण, गन्ना बकाया भुगतान, आलू और गेहूं खरीद की भी व्यवस्था

6. कौशल विकास को बढ़ावा देना बजट मे शामिल, 24 जनवरी यूपी दिवस मनाने की योजना, पूंजी निवेश योजना की नीति लागू की जा रही

7. कानपुर, वाराणसी, आगरा, गोरखपुर शहरों में मेट्रो का प्रस्ताव

8. बुंदेलखंड को दिल्ली से एक्सप्रेस-वे से जोड़ने के लिए केंद्र से अनुरोध, राज्य राजमार्गों को नेशनल हाईवे घोषित करने का प्रस्ताव

9. वाराणसी, फैजाबाद, अयोध्या, नैमिषारण्य, चित्रकूट, विंध्याचल में बस अड्डों का उच्चीकरण और नव निर्माण होगा

अब तक का सबसे बड़ा बजट

1. 3.84 लाख करोड़ का बजट सदन में पेश किया गया, 55781 करोड़ रुपए की नई योजनाएं बजट में शामिल

2. बजट में 55 हजार, 781 करोड़ की नई योजनाएं शामिल, 2017-18 वर्ष में राजस्व प्राप्ति का अनुमान 3 लाख 77 हज़ार करोड़

3. 2017-18 में 42 हजार 967 करोड़ के राजकोषीय घाटे का अनुमान, किसान कर्जमाफी के लिए 36 हजार करोड़ की बजट में व्यवस्था

4. पं. दीनदयाल उपाध्याय किसान समृद्धि योजना की शुरुआत, किसान समृद्धि योजना के लिए 10 करोड़ का बजट

5. वर्मी कम्पोस्ट खाद के लिए 19 करोड़ 56 लाख का बजट, सिंचाई के लिए स्प्रिंकलर के लिए 10 करोड़, 41 लाख का बजट

6. सोलर पंप योजना के लिए 125 करोड़ का बजट, गन्ना किसानों की उपज बाजार तक पहुंचाएगी सरकार

7. संपर्क मार्गों के निर्माण के लिए 200 करोड़ का बजट, संपर्क मार्गों के रखरखाव के लिए 250 करोड़ का बजट

8. कानपुर, फैजाबाद, मेरठ, बांदा, इलाहाबाद में फसलों पर होगा शोध, सेंटर ऑफ इक्सीलेंस की स्थापना के लिए 10 करोड़

9. चीनी उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए 273 करोड़ का बजट, बंद मुंडेरवा चीनी मिल की जगह नये प्लांट के लिए 270 करोड़

10. निर्माणाधीन चीनी मिल सठियांव के लिए 33 करोड़ 35 लाख, रमाला सहकारी चीनी मिल के लिए 84 करोड़ का बजट

11. सब्जियों के उत्पादन-प्रबंधन के लिए 25 करोड़ का बजट

12. मेट्रो रेल परिजयोजनाओं के लिए 288 करोड़ का बजट, सड़कों के चौड़ीकरण के लिए 598 करोड़ का बजट

13. गांव को पक्के मार्गों से जोड़ने, छोटे पुलों के लिए 451 करोड़, जिला मुख्यालयों को फोर लेन से जोड़ने के लिए 71 करोड़

14. सड़कों के रखरखाव, गड्ढा मुक्त के लिए 3 हजार 972 करोड़, यूपी राज्य सड़क विकास निगम की स्थापना होगी

15. यूपी राज्य सड़क विकास निगम के लिए 50 करोड़ का बजट, पूर्वांचल की विशेष योजनाओं के लिए 300 करोड़ का बजट

16. बुंदलेखंड की विशेष योजनाओं के लिए 200 करोड़ का बजट, पं. दीनदयाल उपाध्याय नगर विकास योजना के लिए 300 करोड़

17. प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के लिए 3 हजार करोड़, शहरों में मलिन बस्ती विकास के लिए 385 करोड़ का बजट

18. पं. दीनदयाल अंत्योदय शहरी आजीविका मिशन के लिए 218 करोड़, गांवों में दीनदयाल उपाध्याय सोलर स्ट्रीट के लिए 30 करोड़

19. हवाई पट्टियों के निर्माण, रखरखाव, जमीन अधिग्रहण के लिए 400 करोड़, बेसहारा पशुओं के लिए कान्हा गौशाला और बेसहारा पशु आश्रय योजना के लिए 40 करोड़ का बजट

20. औद्योगिक निवेश एवं रोजगार प्रोत्साहन नीति 2017, रोजगार प्रोत्साहन के क्रियान्वयन लिए 20 करोड़ का बजट

21. सिंगल विंडो क्लीयरेंस के लिए 10 करोड़ का बजट, स्कूलों में बच्चों को बैग बांटने के लिए 100 करोड़ का बजट

22. स्कूलों में बच्चों को जूता, मोजा, स्वेटर बांटने के लिए 300 करोड़, बच्चों को यूनिफॉर्म और किताबों के लिए 124 करोड़ का बजट

23. लड़कियों को स्नातक तक नि:शुल्क शिक्षा देगी सरकार, अहिल्याबाई नि:शुल्क शिक्षा योजना के लिए 21 करोड़ का बजट

24. दसवीं तक के पिछड़े वर्ग के छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति मिलेगी, दसवीं तक छात्रवृत्ति के लिए 142 करोड़ का बजट

25. दसवीं से ऊपर छात्रवृत्ति और शुल्क प्रतिपूर्ति के लिए 1 हजार, 61 करोड़ का बजट

26. अल्पसंख्यक छात्रों के छात्रवृत्ति, शुल्क प्रतिपूर्ति के लिए 942 करोड़ का बजट

27. सरकारी, प्राइवेट डिग्री कॉलेज, विवि में वाईफाई के लिए 50 करोड़ का बजट

28. किसान और दुर्बल आय वर्ग  के लिए 5 लाख तक का बीमा होगा, किसान बीमा योजना के लिए 692 करोड़ का बजट

29. आम आदमी बीमा योजना के लिए 85 करोड़, सामान्य, एससी/एसटी, ओबीसी, अल्पसंख्यक गरीब लड़कियों की शादी अनुदान योजना के लिए 250 करोड़

30. फसली ऋण मोचन योजना 36000 करोड़ की व्यवस्था

यूपी सरकार की उपलब्धियां

1. संकल्प पत्र के अनुसार हम सभी वायदों को पूरा कर रहे,यूपी खनन नीति 2017 लागू की गई, ई-टेंडरिंग प्रणाली लागू की गई

2. सर्वोच्य न्यायालय, एनजीटी के निर्देशों पर बूचड़खानों पर कार्रवाई की, 5 हजार हेक्टेयर से ज्यादा वन भूमि खाली कराई

3. महिला सहायता के लिए 181 हेल्पलाइन नम्बर जारी किया, गन्ना किसानों के लिए भी हेल्पलाइन नम्बर जारी किया

4. गोरखपुर, बस्ती, मुंडेरवा चीनी मिलों को अपग्रेड करने की योजना, 15176 हजार किसानों को गन्ना समिति की सदस्य बनाया गया

5. सभी विभागों में ई-टेंडरिंग की व्यवस्था लागू की गई, सौर ऊर्जा 96 मेगावाट की योजनाएं भी शुरू हुई।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …