चुनाव के लिए यूपी पुलिस पूरी तरह से तैयार, सुरक्षा व्‍यवस्‍था के पुख्‍ता इंताजाम : एडीजी आनंद कुमार

डीएन ब्यूरो

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए 11 अप्रैल को मतदान होना है। जिसके लिए प्रदेश की पुलिस ने भी अपनी तैयारी पूरी कर ली है। जिसकी जानकारी आज एडीजी कानून व्‍यवस्‍था आनंद कुमार ने दी।


लखनऊ: मतदान के लिए सुरक्षा व्‍यवस्‍था को लेकर उत्‍तर प्रदेश भी पूरी तरह से तैयार है। यह कहना है एडीजी कानून-व्यवस्था आनंद कुमार का। मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत में उन्‍होंने बताया,चुनाव आयोग के दिशा निर्देश के अनुसार पूरे प्रदेश में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। ताकि भयमुक्त और निष्पक्ष तरीके से मतदान कराया जा सके।

पुलिस द्वारा प्रदेश भर में की गई कार्रवाईयों के बारे में बताते हुए एडीजी कानून व्यवस्था आनंद कुमार ने बताया कि 2169 व्यक्तियों को जिला-बदर, 64,481 व्यक्तियों को पाबंद, जबकि गैंगस्टर एक्ट के मामले में 3000 से अधिक व्यक्तियों के खिलाफ मुकदमे दर्ज किए गए हैं। वहीं 11 करोड़ 21 लाख रुपए शमन शुल्क के रूप में भी वसूला गया है।

वहीं मतदान प्रक्रिया को प्रभावित करने के लिए लाई जा रही 8 लाख लीटर से अधिक अवैध शराब और 96 करोड़ रुपए से अधिक की ज्वैलरी जब्त की गई है। 27 करोड रुपए से अधिक की नकदी जब्‍ज की जा चुकी है। उन्‍होंने बताया कि 2014 के लोकसभा और 2017 के विधानसभा चुनाव में जो नकदी बरामद हुई थी इस बार उससे लगभग 50 करोड़ रुपए अधिक बरामद हुए हैं।

साथ ही पुलिसकर्मियों द्वारा मतदान प्रक्रिया में हिस्सेदारी के बारे में उन्‍होंने बताया कि 77% से अधिक पुलिसकर्मियों का पोस्टल बैलेट से जुड़े कागजात भराए जा चुके हैं। सोशल मीडिया निगरानी के लिए सोशल मीडिया शिकायत सेल का गठन किया गया है। इस दौरान उन्‍होंने हेल्पलाइन नंबर 9792101616 भी उन्होंने जारी किया।

आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन से जुड़ी कोई भी शिकायत इस हेल्पलाइन नंबर पर भेजकर दर्ज कराई जा सकती है। वहीं समाज के सभ्रांत व्यक्तियों के साथ मिलकर सी-प्लान नाम का एक ऐप भी यूपी पुलिस ने तैयार किया है। जिसका प्रभारी एक पुलिस अधिकारी को बनाया गया है। इसमें जनता के बीच के ग्यारह लाख से अधिक संभ्रांत व्यक्ति शामिल है।

गौरतलब है कि पहले चरण में उत्तर प्रदेश में 8 लोकसभा सीटों पर मतदान होना है। जिसके लिए केंद्रीय सुरक्षा बल और पीएसी का भी इंतजाम किया गया है। यूपी पुलिस की ओर से 5000 से अधिक सब इंस्पेक्टर, 30 हजार के लगभग सिपाहियों को तैनात किया गया है। इस तरह पहले चरण के मतदान के लिए कुल एक लाख पांच हजार पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है।

एडीजी कानून-व्यवस्था आनंद कुमार ने कहा कि यूपी पुलिस की कार्यप्रणाली से चुनाव आयोग काफी संतुष्ट है और कई बार यूपी पुलिस की कार्यप्रणाली की तारीफ भी कर चुका है। ऐसे में हमारी कोशिश है कि आगे सभी चरणों के मतदान सकुशल संपन्न कराए जाएं और जिससे सभी लोग अपने अपने मताधिकार का प्रयोग कर पाएं।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार