सिद्धार्थनगर: स्वच्छ भारत मिशन की उड़ी धज्जियां, विकास भवन शौचालय विहीन

डीएन संवाददाता

पीएम मोदी के स्वच्छ भारत मिशन को अमलीजामा पहनाने में जुटे जन प्रतिनिधि और प्रशासन इसको लेकर कितने गंभीर है, इसका उदाहरण जिले के विकास भवन में देखा जा सकता है, जहां एक अदद शौचालय तक मौजूद नहीं है। पूरी खबर..

विकास भवन परिसर में बिना दरवाजे का शौचालय
विकास भवन परिसर में बिना दरवाजे का शौचालय

सिद्धार्थनगर: चौपाल कार्यक्रम में भाजपा के विधायक और सासंद द्वारा बड़े स्तर पर शौचालय निर्माण का आश्वासन दिया गया था लेकिन इस दिशा में कोई कार्य होता नहीं दिख रहा है। गांव की बात दूर, जिले के विकास भवन तक में शौचालय ही नहीं है और जो है भी वह इस्तेमाल करने के लायक ही नहीं है, जिससे साफ पता चलता है कि सरकार शौचालय निर्माण को लेकर कितनी गंभीर है।

जिले के विकास भवन में केवल एक ही शौचालय बना हुआ है। इस शौचालय में दरवाजा ही नहीं है, जिसके कारण महिलाओं को खासा दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। महिलाएं यहां शौचालय के लिये इधर-उधर भटकने के लिए मजबूर हो जाती है।

 

 

जिले में विकास योजनाओं को लेकर जनप्रतिनिधि और प्रशासन कितना गंभीर है, इसका अनुमान विकास भवन में बने शौचालय को देखकर लगाया जा सकता है। शौचालय के चारों और फैली गंदगी स्वच्छता के दावों की पोल खोलती नजर आती है। देश में केन्द्र सरकार की सबसे बड़ी योजना स्वच्छ भारत मिशन योजना यहां दूर-दूर तक कहीं नजर नहीं आती है।

 

जब विकास भवन की यह दशा हो तो गांवों का क्या हाल होगा, इसका अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है। विकास भवन में शौचालय की इस दुर्दशा पर लोगों का आक्रोश आसानी से देखा जा सकता है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार