शिवपाल यादव के तेवर नरम, 'कोई नई पार्टी नहीं बनाएंगे'

डीएन ब्यूरो

सपा में अखिलेश और शिवपाल में टिकट बंटवारे को लेकर जो घमासान शुरु हुआ था उस लड़ाई में अखिलेश ने बाजी मारते हुए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बन गए थे। जिसके बाद शिवपाल यादव ने नई पार्टी की बात कही थी लेकिन अब उन्होंने इसका खंडन कर दिया है।

शिवपाल यादव एक जनसभा के दौरान लोगों को संबोधित करते हुए
शिवपाल यादव एक जनसभा के दौरान लोगों को संबोधित करते हुए

इटावा: समाजवादी पार्टी में चल रही वर्चस्व की लड़ाई में शिवपाल यादव अब ठंडे नजर आ रहे हैं। पहले पार्टी में बागी तेवर अपना चुके शिवपाल यादव से जब नई पार्टी का सवाल पूछा गया तो उनके तेवर बदले-बदले नजर आए। अब शिवपाल का कहना है कि वह कोई नई पार्टी नहीं बनाएंगे

इससे पहले शिवपाल यादव ने इटावा में अखिलेश यादव को सरकार बनाने की चुनौती देते हुए कहा था कि 11 मार्च को यूपी चुनाव के नतीजे आने के बाद कुछ लोग सरकार बनाएंगे और वह अपनी नई पार्टी बनाएंगे चुनाव प्रचार के दौरान जब इस बारे में शिवपाल यादव से सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि कोई नई पार्टी नहीं।

शिवपाल यादव ने कांग्रेस से सपा के गठबंधन पर भी सवाल उठाए थे शिवपाल ने कहा था कि जिस पार्टी की 4 सीटें जीतने की हैसियत नहीं, उसे 105 सीटें देने से कार्यकर्ता हताश होंगे

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार