बिना बताए छुट्टी पर गए रेलवे के 13,500 कर्मचारियों की नौकरी खतरे में

डीएन ब्यूरो

लंबे समय से बिना बताये अनुपस्थित रहने वाले कई रेलवे कर्माचारियों के खिलाफ रेल मंत्रालय ने एक बड़ा और कठोर फैसला लिया है, इन कर्मचारियों की नौकरी पर अब संकट के बादल छा गये है। पढ़ें पूरी खबर..

फाइल फोटो
फाइल फोटो

नई दिल्ली: लंबे समय से अनुपस्थित रहने वाले रेलवे कर्माचारियों के खिलाफ रेल मंत्रालय ने एक बड़ा ऐलान किया है। भारतीय रेलवे ने तकरीबन13,500 ऐसे कर्मचारियों की पहचान की है, जो बिना बताए छुट्टी पर चले गये।

रेल मंत्रालय ने इस कर्माचारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए उनकी सेवाएं समाप्त करने की अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू की है। रेलवे ने सभी कर्मचारियों पर उचित कार्रवाई के बाद उनका नाम सूची से हटाने के निर्देश दिये है। 

रेलवे ने यह कदम उस समय उठाया है, जब रेल मंत्री पीयूष गोयल ने उच्च अधिकारियों से कहा कि वे रेल के सभी विभागों में मौजूद उन कर्माचारियों का पता लगाएं जो लंबे समय से बिना बताए छुट्टी पर चले गये हैं। पीयूष गोयल के निर्देश के बाद पता चला कि 13,500 से ज्यादा कर्मचारी बिना बताये छुट्टी पर चले गये है। अब उनके खिलाफ कार्यवाही होनी लगभग निश्चित माना जा रही है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

#DNPoll क्या राजस्थान उप चुनाव के नतीजे भाजपा के लिए खतरे की घंटी है?

हां
70.59%
नहीं
29.41%