जानें.. पीएम मोदी कैसे निकालते हैं कड़क और जोशीली आवाज, कहां से मिलती है ऊर्जा?

डीएन ब्यूरो

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राजनीति से हटकर यदि एक आम व्यक्ति के नजरिये से देखा जाए तो उनकी कई खूबियां काफी लुभावनी मानी जाती है। जोशीली आवाज, कड़क अंदाज, फैशन, सैर-सपाटा, पहनावा आदि ऐसी चीजें है, जिनके कारण वो अक्सर चर्चा में भी रहते हैं। जानें, पीएम मोदी आखिर कैसे बने रहते हैं इतने ऊर्जावान..डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तंदुरस्ती को लेकर न सिर्फ देश में बल्कि विदेशों में भी चर्चा होती है। राजनीतिक से हटकर बात करें तो अपने व्यक्तित्व की वजह से वह युवाओं में सबसे अधिक लोकप्रिय नेता माने जाते हैं। मोदी जहां भी जाते हैं, सभी उनके मुरीद हो जाते हैं। सोमवार को ही मोदी ने अपना 68वां जन्मदिन मनाया। मंगलवार को 69वें साल में प्रवेश कर चुके मोदी आखिरकार इतने ऊर्जावान हैं कैसे? इसी सवाल का जवाब देती डाइनमाइट न्यूज़ की यह एक्सक्लूसिव रिपोर्ट.. 

पीएम मोदी का एक रोड शो (फाइल फोटो)

कड़क और जोशीली आवाज के साथ स्फूर्ति और चुस्ती

1. पीएम मोदी चाहे संसद में भाषण दे रहे हों या फिर किसी सार्वजनिक मंच से बड़े जनसमूह को संबोधित कर रहे हों.. एक बात उन्हें दूसरे नेताओं से खास बनाती है और वह है भाषण के दौरान उनकी कड़क और जोशीली आवाज, जो सुनने वालों में एक नया जोश भरती और उन्हें लुभाती है।  

2. स्वच्छता के प्रति उनकी मुहिम और दूसरों को भी जागरूक करने की प्रेरणा भी मोदी को कई मायनों में अलग बनाती है। 

3. मोदी कैसे इतने करिश्माई चेहरा बन गए हैं यह 'नरेंद्र मोदी-ए करिज्मैटिक एंड विजनरी स्टेट्समैन' की किताब में पढ़कर पता चलता है।

4. इस किताब में लिखा गया है कि पिछले सात दशकों में देश को ऐसा कोई दूसरा प्रधानमंत्री नहीं मिला जो इतनी स्फूर्ति और चुस्ती से कार्य करता हो।

पीएम मोदी की दिनचर्या

1. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की खासियत यह है कि वह सुबह 4 बजे हर हाल में सोकर उठ जाते हैं।

2. बात अगर पीएम मोदी के रात को सोने की करें तो उनकी दिनचर्या इतनी व्यस्त रहती है कि रात को भी वह काफी देर से सो पाते हैं।

3. हर दिन सुबह मोदी सूर्य नमस्कार, प्राणायाम और अन्य योगासन करते हैं। वह खुद भी मानते हैं कि अगर मनुष्य व चुस्त-तंदरुस्त रहना है तो उसे नियमित व्यायाम करना चाहिए। 

4. योगासन के बाद वह अपनी शुरुआत एक कप अदरक की चाय के साथ करते हैं। 

योगा करते पीएम मोदी

5. देश-दुनिया में चल रही गतिविधियों व हलचल के लिए प्रधानमंत्री वक्त निकालकर अखबारों को भी पढ़ते हैं। वहीं रात को जब उन्हें समय मिलता है तो वह टीवी चैनलों में भी समाचार देखते हैं।

6. सभी मंत्रालयों के मीडिया ट्रैकर हर रोज सुबह छह बजे कार्यालय में पहुंच जाते हैं, ताकि प्रधानमंत्री को उनके निवास पर मीडिया की विशिष्ट कवरेज भेज सकें। मोदी तकनीक का खास तौर पर इस्तेमाल करते हैं इसके लिए वह अपने ट्वीटर हैंडल और साथ ही मेल को भी समय-समय पर चैक करते हैं। 

7. प्रधानमंत्री अगर दिल्ली में होते हैं तो वह किसी भी स्थिति में 9 बजे अपने कार्यालय में पहुंच जाते हैं। वह समय के बड़े पक्के हैं। प्रधानमंत्री सभी मंत्रालयों की रिपोर्ट व संबंधित अधिकारियों से फोन के जरिए व वीडियो क्रॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मुखातिब होते हैं।

8. प्रधानमंत्री माह के अंतिन रविवार को सुबह 11 बजे रेडियो पर मन की बात के जरिए जहां देश को संबोधित करते हैं तो वहीं आमजन से भी देश की बेहतरी के लिए विचार-विर्मश व सुझाव मांगते हैं। 

9. प्रधानमंत्री के भोजन के लिए एक खानसामा है, जो मोदी के घर और दफ्तर में उनके लिए भोजन बनाता है। 

10. प्रधानमंत्री को खाने में न सिर्फ दलिया व खिचड़ी पसंद है बल्कि उन्हें अपने मातृ प्रदेश यानी गुजराती भोजन भी खासा पसंद है। स्वच्छता को लेकर व शरीर को तंदरुस्त व चुस्त रखने के लिए प्रधानमंत्री योग, सफाई व संतुलित भोजन के साथ-साथ युवाओं को समय-समय पर जागरूक करते रहते हैं।  वहीं फिटनेस चैलेंज के लिए प्रधानमंत्री हमेशा तैयार रहते हैं। जिससे वह युवाओं में खासे लोकप्रिय बने रहें।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)













संबंधित समाचार