मन की बात में बोले पीएम मोदी, छठ पूजा प्रकृति से जुड़ा महापर्व

डीएन ब्यूरो

रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' के 37 वें कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी देशवासियों को संबोधित कर रहे हैं। जानें, पीएम मोदी ने 'मन की बात' में आज क्या-क्या कहा..

फाइल फोटो
फाइल फोटो

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने अपने रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' के 37 वें कार्यक्रम में कहा कि छठ पूजा अनुशासन का पर्व है और यह महापर्व प्रकृति से जुड़ा हुआ है। दीपावली के छह दिन बाद मनाया जाने वाला छठ पर्व हमारे देश में सबसे अधिक नियम और निष्ठा के साथ मनाए जाने वाले त्योहारों में से एक है। आस्था के इस महापर्व में उगते और अस्त होते सूर्य की आराधना होती है। दुनिया उगते हुए लोगों की पूजा में लगी रहती है लेकिन यह पर्व डूबते की पूजा का भी संदेश देता है। यह रोग निवारण और अनुशासन का पर्व है।

पीएम मोदी ने कहा कि सीमा पर तैनात जवानों के साथ दिवाली मनाकर काफी अच्छा लगा, उनके संघर्ष और त्याग को नमन करता हूं। सीमा पर जवानों के साथ साथ मनाई गई दिवाली कभी नहीं भूल सकता हूँ। उन्होंने कहा कि खादी ग्रामीण विकास का साधन बनकर उभर रहा है, यह खादी फॉर नेशन और खादी फॉर फैशन के बाद खादी फॉर ट्रांसफॉर्मेशन बन रहा है। मैं कल्पना कर सकता हूं कि खादी ग्रामीण विकास से कितने बुनकर, गरीब और हथकरघा का काम करने वाले परिवारों को लाभ मिला होगा|

मन की बात की बड़ी बातें

 

* 31 अक्टूबर को सरदार बल्लभ भाई पटेल की जयंती पर रन फॉर यूनिटी में सभी देशवासी भाग लें।
* सरदार बल्लभ भाई पटेल की जयंती पर राष्ट्रीय एकता दिवस मनाया जायेगा।
* सरदार बल्लभ भाई पटेल की बात हम सब के लिये प्रेरणास्रोत है।
* 2019 में गुरूनानक जी का 550वां प्रकाश पर्व मनायेंगे।
* चंद्रपुर किले की सफाई स्वच्छता अभियान का प्रेरक उदाहरण भारत।

* दस साल बाद भारत ने एशिया कप जीता। मैं पूरी हॉकी टीम को बधाई देता हूं।
* खेलों के क्षेत्र में भारत को हाल में कई उपलब्धियां मिली।
* योग सहज, सरल और सर्वसुलभ है, इसे जीवन में अपनायें।
* जवानों के संघर्ष, सेवा और त्याग को नमन।
* हमारे सैनिक दुनिया भर में हिन्दुस्तान का नाम रोशन कर रहे हैं।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार