पीयूष गोयल ने पेश किया अंतरिम बजट, जानिए..किसको क्या मिला इस बजट से..

डीएन ब्यूरो

वित्त मंत्री अरूण जेटली की गैर-मौजूदगी में उनका कार्यभार संभाल रहे पीयूष गोयल ने आज लोकसभा में अंतरिम बजट पेश किया। बजट पेश होने से पूर्व ही उम्मीद जताई जा रही थी कि इससे मध्य वर्ग, कॉरपोरेट सेक्टर और किसानों को राहत मिलेगी। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट में जानिए किसको क्या मिला इस बजट से..

पीयूष गोयल ने पेश किया अंतरिम बजट
पीयूष गोयल ने पेश किया अंतरिम बजट

नई दिल्ली: वित्त मंत्री अरूण जेटली बीमार हैं। अमेरिका में अपना इलाज करा रहे हैं। लिहाज़ा उनकी गैर-मौजूदगी में रेल मंत्री पीयूष गोयल को वित्त मंत्रालय का कार्यभार सोंपा गया है। आज पीयूष गोयल ने सुबह 11 बजे अंतरिम बजट पेश किया। वित्त मंत्री अरूण जेटली ने पहले ही संकेत दे दिए थे उनकी सरकार लेखानुदान की बजाए अंतरिम बजट ही पेश करेगी। इलाज के लिए अमेरिका जाने से पूर्व अरूण जेटली ने संकेत दिया था कि अंतरिम बजट परंपरा के अनुसार नहीं होगा, क्योंकि संकटग्रस्त कृषि क्षेत्र को राहत देने में देरी नहीं की जा सकती और इसके लिए लेखानुदान पर्याप्त नहीं होगा।  

यह भी पढ़ें: Budget 2019: जानिए..अंतरिम बजट से क्या मिला किसानों को..
आज पीयूष गोयल ने लोकसभा में अंतरिम बजट पेश किया। बजट पेश होने से पूर्व  केंद्रीय ग्रामीण विकास, पंचायतीराज स्वच्छता एवं पेयजल मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने मीडिया से बात करते हुए बयान दिया था कि बजट पीएम मोदी के “सबका साथ-सबका विकास”  के सिद्धांत को ध्यान में रखकर पेश किया जाएगा। जानिए, बजट से उम्मीद लगाए मध्य वर्ग, किसानों, महिलाओं और कॉरपोरेट सेक्टर को क्या मिला..

अपने भाषण में उन्होंने अपनी सरकार की तारीफ की..अपनी उपलब्धियों को गिनाया..

उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने कमरतोड़ महंगाई की कमर तोड़ दी। उन्होंने कहा कि भारत विश्व में छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था हैं। पारदर्शी और जवाबदेही बैंकिंग व्यवस्था हमने शुरु की। 
महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि के रूप में, दुनिया का सबसे बड़ा व्यवहार परिवर्तन आंदोलन स्वच्छ भारत ने शुरू किया; 98% से अधिक ग्रामीण स्वच्छता कवरेज हासिल किया गया है; 5.45 लाख से अधिक गांवों को ओडीएफ घोषित किया गया

निकट भविष्य में सभी को बिजली कनेक्शन मिलेगा। हमने गरीबों को 143 करोड़ बिजली का बल्ब मुहैया कराया है।

गरीब लोगों के लिए सस्ती दरों पर भोजन लाने के लिए 1,70,000 करोड़ रुपये खर्च किए गए।

यह भी पढ़ें: Budget 2019 Live: वित्त मंत्री पीयूष गोयल पेश कर रहे हैं अंतरिम बजट

आयुष्मान भारत को लगभग 50 करोड़ लोगों को चिकित्सा देखभाल प्रदान करने के लिए लॉन्च किया गया था, जिसके परिणामस्वरूप गरीब परिवारों द्वारा 3,000 करोड़ की बचत की गई थी।

देश में 21 एम्स काम कर रहे हैं, 14 की घोषणा  साल 2014 के बाद हो चुकी है। 

बजट से क्या मिला किसानों को..

अंतरिम बजट पेश होने से पूर्व ही उम्मीद जताई जा रही थी कि किसानों को बड़ी राहत मिलेगी। पीयूष गोयल ने बजट पेश करने के दौरान किसानों के लिए कई बड़ी घोषणाएं कीं। इसमें बड़े किसानों की बजाए छोटे किसानों पर ध्यान दिया गया। साथ ही उन किसानों के लिए बड़ी घोणाएं की गईं जो समय पर ऋण अदा करते हैं।  

पीयूष गोयल ने कहा, संकटग्रस्त किसानों को राहत देने के लिए, वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने किसान योजना प्रस्तावित की जिसके तहत प्रति वर्ष 6,000 रुपये छोटे किसानों के बैंक खातों में सीधे हस्तांतरित किए जाएंगे।

किसान योजना से 12 करोड़ किसान परिवारों को लाभ होने की संभावना है, गोयल ने कहा। किसानों के लिए आय सहायता योजना पर सरकार को प्रति वर्ष 75,000 करोड़ रुपये का खर्च आएगा।

किसान योजना के तहत जल्द ही किसानों को 2,000 रुपये की पहली किस्त दी जाएगी। चालू वित्त वर्ष के लिए, वित्त मंत्री ने किसान आय सहायता के लिए 20,000 करोड़ रुपये का प्रस्ताव दिया।

इसके साथ ही उन्होंने घोषणा की कि फसल ऋणों के पुनर्निर्धारण के बजाय, प्राकृतिक आपदाओं से बुरी तरह प्रभावित होने वाले किसानों को समय पर पुनर्भुगतान पर 2% ब्याज और अतिरिक्त 3% ब्याज सबवेंशन मिलेगा।

रक्षा बजट को तीन लाख करोड़ किया गया

अंतरिम वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने घोषणा की कि रक्षा बजट 3 लाख करोड़ से अधिक हो गया है। गोयल ने यह भी घोषणा की कि OROP के तहत पिछले वर्षों में 35000 करोड़ रुपये का वितरण किया गया है। उन्होंने यह भी कहा कि उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों में वेतन भत्ते में भारी वृद्धि हुई है।

नौकरीपेशा लोगों को मिला बड़ा तोहफा

आयकर छूट की मांग लम्बे अरसे से की जा रही थी। इस साल लोकसभा चुनाव  होने के कारण यह उम्मीद भी जताई जा रही थी कि सरकार आयकर में छूट की सीमा बढ़ा सकती है। तीन राज्यों में चुनाव हार चुकी बीजेपी ने निराश ना करते हुए आज पेश किए गए अंतरिम बजट के ज़रिए नौकरीपेशा लोगों को बड़ा तोहफा दिया  है। पीयूष गोयल ने आयकर छूट सीमा बढ़ाने का ऐलान कर दिया है। वित्त मंत्री ने कहा कि अब पांच लाख रुपए तक की आय पर किसी तरह का कोई टैक्स नहीं लगेगा। इसके साथ ही निवेश करने पर 6.5 लाख रुपए तक कोई टैक्स नहीं देना होगा। पीयूष गोयल ने कहा कि इससे तीन करोड़ मध्य वर्ग के लोगों फायदा मिलेगा। अभी तक यह सीमा ढाई लाख रुपए थी। इसके अलावा 40 हजार तक के बैंक ब्याज पर टैक्स नहीं देना होगा। पहले यह सीमा 10 हजार रुपए तक की थी। 

रेल में यात्रा करने वालों को क्या मिला?

रेल यात्रियों के लिए सरकार ने बजट में कई ऐलान किए। रेलवे से जुड़े ऐलान करते हुए उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने रेलवे का घाटा कम करने का काम किया। यह साल रेलवे के लिए सबसे सुरक्षित रहा है। रेलवे को बजटीय आवंटन वित्त वर्ष 2018-19 के लिए 64,587 करोड़ दिए गए हैं। उन्होंने आगे कहा, 'वास्तव में रेलवे का कुल पूंजीगत खर्च 1,58,658 करोड़ रुपये रहेगा, जो ऐतिहासिक है।' 

देश की पहली हाई स्पीड ट्रेन के बारे में उन्होंने आगे कहा, 'पहली बार वंदे भारत सेमी हाई स्पीड ट्रेन भारत में बनी। वंदे भारत एक्सप्रेस में आधुनिक सुविधाएं दी गई हैं। हमने पूर्वोत्तर राज्यों में रेलवे का विस्तार किया। सरकार द्वारा पूर्वोत्तर के लिए कंटेनर कार्गो का विस्तार किया गया।'

इंजनरहित ट्रेन 18 के विनिर्माण के बारे में उन्होंने कहा, 'वंदे भारत एक्सप्रेस स्पीड, सुरक्षा और सेवा के मामले में विश्वस्तीय सेवा मुहैया कराएगी। हमारे इंजीनियरों द्वारा विकसित यह बड़ी सफलता है, जो मेक इन इंडिया कार्यक्रम को गति प्रदान करेगी और रोजगार पैदा करेगी।' 

गायों की सुरक्षा के लिए खर्च किए जाएंगे करोड़ों रुपये

पीयूष गोयल का कहना है कि गाय का कल्याण हमारी प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि गौ-रक्षा के लिए राष्ट्रीय कामधेनु आयोग की स्थापना की जाएगी। गायों की सुरक्षा के लिए उन्होंने राष्ट्रीय गोकुल योजना के लिए 750 करोड़ रुपये आवंटित करने की घोषणा की व पशुपालन और मछली पालन करने वाले किसानों के लिए 2% ब्याज उपबंध की घोषणा की।
 

 

 


 

 

 


 

 

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

#DNPoll क्या आपको लगता है जनता के असली मुद्दों को लेकर मोदी और राहुल के बीच आमने-सामने की डिबेट होनी चाहिये?

हां
80.95%
नहीं
19.05%