DN Exclusive: भारत में बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम तो नेपाल से होने लगी धड़ल्ले से तस्करी

डीएन ब्यूरो

भारत में इस समय पेट्रोल डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं। जिससे आम जनता परेशान है। वहीं पड़ोसी देश नेपाल में पेट्रोल काफी सस्ता मिल रहा है, जिसकी वजह से कुछ इलाकों में पेट्रोल की तस्करी हो रही है। पढ़ें पूरी खबर डाइनामाइट न्यूज़ पर



महराजगंजः भारत में बढ़ रहे पेट्रोल के दामों के कारण नेपाल से पेट्रोल तस्करी हो रही है।

डाइनामाइट न्यूज़ संवाददाता के अनुसार महराजगंज जिले की लगभग 84 किलोमीटर सीमा नेपाल से सटे है पड़ोसी मुल्क नेपाल में पेट्रोल भारत से सस्ता बिक रहा है। एक या दो रुपये नहीं बल्कि करीब 22 रुपये प्रति लीटर का अंतर है। यही कारण है कि सीमावर्ती इलाकों के लोगों ने पड़ोसी देश से पेट्रोल लाने का काम शुरू कर दिया है। आलम यह है नेपाल बॉर्डर से सटे भारतीय पेट्रोल पम्पो के लगभग 60 फीसदी ग्राहक घट गए नेपाल जाने वाली मालवाहक ट्रकें अपनी गाड़ियों में केवल नेपाल पहुचने तक का ईंधन रख रहे हैं और आते वक्त गाड़ियों के टैंक नेपाल में फूल करने के बाद ही भारत मे प्रवेश कर रहे हैं कोरोना की पाबंदियों के चलते सीमा पूरी तरह खुली न होने के कारण तस्कर अब तेल का खेल करने में जुट गए हैं।

डीजल और पेट्रोल की तस्करी की जानकारी मिलने के बाद सीमावर्ती इलाकों में सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं। भारतीय सीमा क्षेत्र में डीजल 81.62 व पेट्रोल 89.12 रुपये लीटर पंपों पर बिक रहा है। वहीं सीमा पार नेपाल में डीजल 59.81 रुपये ( नेपाली 95.70 रुपये) व पेट्रोल 70.45 रुपये ( 112.70 रुपये नेपाली रुपये) में पंपों पर बिक रहे हैं, जिसमें डीजल में 21.81 व पेट्रोल में 18.67 रुपये का अंतर है लिहाजा भारत से नेपाल जाने वाला कच्चा तेल फिर तस्करी के जरिए भारत मे ही वापस आ रहा है नेपाल को पेट्रोल की आपूर्ति भारत से ही होती है। 

दोनों देशों के बीच हुई एक पुरानी संधि के अनुसार इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) नेपाल के लिए खाड़ी देशों से पेट्कोन का आयात करता है। नेपाल को यह पेट्रोल खरीद मूल्य पर बेचा जाता है और केवल रिफाइनरी शुल्क लिया जाता है। यही वजह है कि नेपाल में यहां के मुकाबले पेट्रोल सस्ता है और बढ़ते दामों की वजह से इसकी तस्करी नेपाल से शुरू हो गई है।









संबंधित समाचार