महराजगंज: पुलिस अधीक्षक रोहित सिंह सजवान ने राम आशीष हत्या काण्ड का किया खुलासा, अभियुक्त दंपत्ति गिरफ्तार

डीएन ब्यूरो

महराजगंज जनपद के तेज तर्रार युवा पुलिस अधीक्षक रोहित सिंह सजवान ने राम आशीष हत्या काण्ड का खुलासा करते हुए सम्बन्धित पुलिस टीम की पीठ थपथपाई। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट..


महराजगंज: जनपद के तेज तर्रार युवा पुलिस अधीक्षक रोहित सिंह सजवान ने राम आशीष हत्या काण्ड का खुलासा करते हुए सम्बन्धित पुलिस टीम की पीठ थपथपाई। बता दें कि बीते 9 जनवरी को बृजमनगंज थाना अनतर्गत मटिहनियाँ टोला ग्रामसभा अहिरावल में सरसों के खेत में रामआशीष पुत्र रामदुलारे का शव मिला था। जिसके बाद क्षेत्र में सनसनी मच गई।

यह भी पढ़ें: क्या महिला पत्रकार के चक्कर में अजय पाल शर्मा की हुई एसएसपी नोएडा के पद से छुट्टी?

शव के गर्दन व गुप्तांग पर चोट लगी थी। मिली सूचना के अनुसार राम आशीष द्वारा पड़ोस मे रहने वाले कपिलदेव की लड़की के साथ कई बार छेड़-छाड़ व गलत काम किया गया था। जिसके लिये कपिलदेव ने मृतक राम आशीष को दो बार समझाया भी था, लेकिन रामआशीष अपनी हरकत से बाज नही आ रहा था।

यह भी पढ़ें: हैलो.. मैं डा. अजय पाल शर्मा की गर्लफ्रैंड बोल रही हूं!

जिससे तंग आकर बीते 6 जनवरी को कपिलदेव ने राम आशीष को अपने घर पर बुलाया और अपनी पत्नी के साथ मिलकर रामआशीष का गला काटकर उसकी हत्या कर दी। राम आशीष की हत्या करने के बाद शव को दो दिन तक पुआल में छुपा कर रखा और फिर मौका पाकर उसे सरसों के खेत में फेक दिया। जो कि 9 जनवरी को बरामद हुआ। जिसके बाद पूरे गांव में सनसनी फैल गयी। पुलिस द्वारा महीने भर तक जांच पड़ताल करने के बाद अभियुकत कपिलदेव व उसकी पत्नी को गिरफ्तार कर लिया गया और साथ ही वह हंसिया भी बरामद हुआ जिससे रामआशीष की हत्या हुई थी।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार