महराजगंज: महामारी में स्वास्थ्य सेवाएं भी बीमार, कहीं एंबुलेंस पंक्चर तो किसी में नहीं था तेल, घंटों तक तड़पता रहा मरीज

डीएन ब्यूरो

जनपद की स्वास्थ्य सेवाएं भी लाचार और बीमार नजर आ रही है। घंटों इंतजार करने के बावजूद भी एक व्यक्ति को एंबुलैंस नहीं मिल सकी, जिससे वह कई देर तक लड़पता रहा। पढ़िये डाइनामाइट न्यूज की पूरी रिपोर्ट



कोल्हुई (महराजगंज): जनपद की स्वास्थ्य सेवाएं किस कदर जर्जर और बीमार हैं, इसकी ताजा उदाहरण आज जनपद में देखने को मिला। कोल्हुई थाना क्षेत्र के ग्राम चैनपुर टोला अकड़हिया में एक गरीब परिवार के 60 वर्षीय बुजूर्ग नंदलाल की हालत अचानक खराब हो गई।

ग्राम प्रधान ने नंदलाल को अस्पताल पहुंचाने के लिये कई जगहों पर एंबुलेंस के लिए फोन किया। लेकिन कहीं एंबुलेंस मौजूद नहीं थी तो कहीं पंक्चर होने व तेल की कमी के कारण एंबुलेंस मरीज के लाने के लिये समय पर न पहुंच सकी। जिस कारण मरीज घंटों यूं ही तड़पता रहा और उसकी स्थित गंभीर हो गई। 

एंबुलेंस के अभाव में बुजूर्ग नंदलाल की हालत बिगड़ती गई। बुजूर्ग मरीज को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। लंबे समय बाद एंबुलैंस पहुंची लेकिन अस्पताल पहुंचने पर नंदलाला की तबियत गंभीर हो चुकी थी।

ग्राम प्रधान सूरज उर्फ बबलू उपाध्याय ने डाइनामाइट न्यूज को बताया कि नंदलाल को अस्पताल पहुंचाने के लिये कई बार फोन किया गया। कोल्हूई न्यू पीएचसी के एंबुलेंस वाले ने कहा कि उसका एंबुलैंस पंचर है। महराजगंज वाले ने बताया कि उसके एंबुलैंस में तेल नहीं है। लक्ष्मीपुर सीएचसी के एंबुलेंस वाले ने कहा कि यहां गाड़ी खाली है ही नहीं।

बड़ी गनीमत के बाद दो-तीन घंटे बाद लक्ष्मीपुर सीएचसी द्वारा एंबुलेंस भेजी गयी और मरीज को लक्ष्मीपुर सीएचसी पहुँचाया गया। लेकिन तब तक नंदलाल की स्थिति गंभीर हो चुकी थी। डॉक्टरों ने गंभीर हालत देखते हुए नंदलाल को मेडिकल कालेज रैफर कर दिया।
 










संबंधित समाचार