Fraud: एक ही नम्बर प्लेट की दो गाड़ियां, पुलिस ने काटा गलत चालान तो खुला मामला

डीएन ब्यूरो

महराजगंज जिले में जालसाजी और धोखाधड़ी का एक मामला सामने आया है। एक ही नंबर की कई गाड़ियां घूम रही हैं। गलत चालान काटने के बाद मामला पकड़ में तो आया लेकिन जब पीड़ित ने इसकी शिकायत जिम्मेदारों से की तो सबने मामले को गंभीर बता पल्ला झाड़ लिया। अब थक हार कर पीड़ित पहुँचा है डाइनामाइट न्यूज़ के पास। पूरी खबर..

एक ही नम्बर प्लेट की कई गाड़ियां, कौन सच्चा औऱ कौन झूठा?
एक ही नम्बर प्लेट की कई गाड़ियां, कौन सच्चा औऱ कौन झूठा?

महराजगंज: प्रदेश में एक तरफ तो सरकार एक मुहिम चला रही है कि जो भी बाइक सवार अपनी गाड़ी पर बिना हेलमेट पहने सफर करता है तो उसकी गाड़ी का चालान काटा जाय और उसे जुर्माना वसूला जाय। सरकार की ये अनोखी पहल तो अच्छी है लेकिन चालान उसका कटे जिसकी गाड़ी हो, जी हाँ!ये  बातें जानने के बाद आप सकते में आ सकते हैं। 

उत्तर प्रदेश के महराजगंज जिले से जुड़े एक ऐसे मामले से डाइनामाइट न्यूज़ आपको अवगत करा रहा है जिसे जानकर आप हैरान हो जायेंगे। शनिवार की दोहपर 3:07 बजे ट्रैफिक पुलिस ने सरकार के चलाये जा रहे नियमों का पालन करते हुए एक गाड़ी का  मुख्यालय के पास एक पेट्रोल पंप पर हेलमेट न पहनने वाले बाइक सवार की गाड़ी का ई-चालान काट दिया।

 

जिस गाड़ी का पेट्रोल पंप पर चालान कटा वो गाड़ी एचएफ डिलक्स थी जिसका गाड़ी नम्बर यूपी 56 AA 8917 है। चौंकाने वाली बात ये आती है कि जिस नम्बर पर गाड़ी का चालान कटा हुआ है उस नम्बर प्लेट की गाड़ी रॉयल एनफील्ड (बुलेट) है। उक्त नम्बर प्लेट की गाड़ी रविप्रकाश मिश्रा पुत्र ओम प्रकाश मिश्रा ग्राम सभा बड़गो थाना कोल्हुई जिला महराजगंज के नाम से है। जिसका उस व्यक्ति के पास पूरा डिटेल्स और साक्ष्य है। 

ये कैसे हो सकता है कि एक ही जिले में एक ही नम्बर प्लेट की दो गाड़ियां घूम रही हो। पहले तो पीड़ित अपनी शिकायत लेकर एसपी के पास गया जहाँ एसपी के प्रहरियो ने मामले को गंभीर बताया लेकिन कहा कि साहब अभी नही मिल सकते। अगले दिन आइये, ये सुनकर बेचारा फिर नगर चौकी स्थित यातायात पुलिस के पास इसकी जानकारी देने गया तो बोला गया कि जाओ जब चालान कट चुका है तो जुर्माना भरना तो पड़ेगा ही और जब वहाँ से भी वह भागा और सदर कोतवाली पहुँचा तो वहाँ भी उसके साथ वैसा ही बरताव किया गया जैसा कि यातायात पुलिस द्वारा किया गया था।

सभी तरफ से हारा और अपने बेबसी से मारा पीड़ित व्यक्ति पहुँचा डाइनामाइट न्यूज़ के पास। बुलेट गाड़ी उसके उक्त मालिक रविप्रकाश मिश्रा की ही है ये तो सही है लेकिन सवालों का तीर तो उस तरफ है कि दूसरी गाड़ी किसकी और कहाँ की है और खुलेआम घूम रहा युवक उस नम्बर प्लेट को कैसे लगा कर घूम रहा? जिले में खुलेआम घूम रही एक नम्बर प्लेट की दो गाड़ियों में से जालसाज को पुलिस पकड़ेगी या नहीं?

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …