महराजगंज: जलाभिषेक कर लौट रहे श्रद्धालुओं से भरी बस सड़क से उतरी, भोलेनाथ ने बचाई सभी की जान

डीएन संवाददाता

सावन माह के दूसरे सोमवार को शिव मंदिर में जल चढ़ाकर वापस आ रहे श्रद्धालुओं और कांवड़ियों से भरी एक बस साइड देने के चक्कर में सड़क से उतर गयी, लेकिन भोलेनाथ की कृपा के कारण सभी श्रद्धालु बच गये। जाने, कैसे हुआ यह कयामत..

सड़क में धंसी बस
सड़क में धंसी बस

महराजगंज: निचलौल थाने के खोनौली गांव के पास श्रद्धालुओं और कांवड़ियों से भरी एक सड़क से उतरकर गड्ढे में धंस गयी। बस जैसे ही पलटती उससे पहले ही बस में बैठे लोगों ने शीशे तोड़ कर किसी तरह अपनी जान बचाई और एक बड़ा हदसा होने से टल गया। लोगों को कहना है कि भोलेनाथ की कृपा से उनकी जान बच गयी। कुछ लोगों का कहना है कि जब यह हादसा हुआ तब बस में कुछ लोग बम बोल के जयकारे भी लगा रहे थे।

 

बस में सवार भोले के भक्त

जानकारी के मुताबिक महराजगंज के निचलौल परिक्षेत्र में स्थित पंचमुखी शिव मंदिर इटहिया में कई श्रद्धालु जल चढ़ाने और भगवान शिव के दर्शन करने गये थे। इस बस में थाना गुलहरियाँ से कई कांवड़िये व श्रद्धालु सवार थे। जलाभिषेक के बाद बस वापसी के समय खोन्हौली गांव के समीप साइड देने के चक्कर में सड़क से उतरी और धंसने लगी। सन्तुलन बिगड़ने का कारण बस को पलटता देख सभी की जान सांसत में फंस गयी। लेकिन तभी श्रद्धालुओं व कांवड़ियों ने बस के खिड़की व शीशे तोड़ने शुरू कर दिया। 

पलटने बची बस

 

इसे भोलेनाथ की ही कृपा मानी जा रही है कि आफत की इस घड़ी में शीशे भी आसानी से टूट गये और सभी लोग शीशे से निकलकर बाल-बाल भी बच गये। सबसे बड़ी बात यह की पलटती हुई बस भी अचानक तिरछी होकर ठहर गयी, जिससे आफत में फंसे अन्य लोग भी बच गये। 

 

धंसते-पलटने से बची बस

पलटती बस का अचानक तिरछी खड़ी होने से सभी हतप्रभ है और इसे भोले की कृपा मान रहे हैं। गांव के लोगों की सहयोग से किसी तरह ट्रैक्टर के माध्यम से टोचन कर बस निकालने का प्रयास जारी है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …