लखनऊ: बैंक कर्जा चुकाने के लिये बना आईएसआई एजेंट और करने लगा दुश्मन देश की मदद

डीएन संवाददाता

मिलिट्री इंटेलिजेंस की मदद से यूपी पुलिस द्वारा उत्तराखंड से गिरफ्तार किये गये आईएसआई एजेंट को लेकर कई बातें सामने आयी है। पढ़ें, कैसे एक शख्स दुश्मन देश पाकिस्तान की मदद करने के लिये आईएसआई एजेंट बन गया। पूरी खबर..

फाइल फोटो
फाइल फोटो

लखनऊ: यूपी पुलिस द्वारा मिलिट्री इंटेलिजेंस की मदद से उत्तराखंड के पिथौरागढ़ से गिरफ्तार किये गये आईएसआई एजेंट के बारे में कई चौंकाने वाली बाते सामने आयी है। दुशमन देश पाकिस्तान का मददगार बनने के पीछे की इस आरोपी की कहानी भी सामने आयी है।

यह भी पढ़ें: लखनऊ: यूपी पुलिस ने आईएसआई एजेंट को पाकिस्तानी मोबाइल के साथ किया गिरफ्तार 

डाइनामाइट न्यूज़ एक्सक्लूसिव बातचीत में एडीजी कानून-व्यवस्था आनंद कुमार ने बताया की आरोपी से पूछताछ में यह तथ्य सामने आया कि बैंक से लिया कर्ज चुकाने के लिए आरोपी आईएसआई के लिए काम करने लगा था।

गिरफ्तार आरोपी रमेश सिंह पुत्र आम सिंह उत्तराखंड के सीमांत जनपद पिथौरागढ़ के डीडीहाट तहसील के गराली गांव का रहने वाला है। रमेश 2015 में भारतीय उच्चायोग में काम करने वाले एक अधिकारी के रसोइए के तौर पर इस्लामाबाद गया, जहां उसकी मुलाकात आईएसआई के अधिकारियों के साथ हुई। इन अधिकारियों ने रमेश को आईएसआई के लिये भारत जाकर काम करने और इसके ऐवज में मोटा पैसा देने का प्रलोभन दिया। 

बैंक से लिया कर्ज चुकाने के लिये आरोपी ने आईएसआई अधिकारियों के इस प्रलोभन को स्वीकार कर लिया। सितंबर 2017 में रमेश भारत लौट आया और इसके बाद राष्ट्रविरोधी गतिविधियों में जुट गया।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार