लखनऊ: रिश्वतखोरी पर यूपी सिडको के 7 अधिकारियों के खिलाफ FIR दर्ज

डीएन संवाददाता

कुछ मेडिकल कॉलेजों में फायर फाइटिंग सिस्टम के उच्चीकरण का काम मिलने पर यूपी सिडको के अधिकारियों पर आर क्यूब ग्रुप ऑफ़ कंपनीज से रिश्वत मांगी गयी। घूस न देने पर कार्य आदेश रद्द कर दिया गया। इस मामले में सिडको अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।


लखनऊ: आर क्यूब ग्रुप ऑफ़ कंपनीज के प्रबंध निदेशक महेश चंद्र श्रीवास्तव ने यूपी सिडको (उत्तर प्रदेश स्टेट कंस्ट्रक्शन एंड इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड) के मुख्य प्रबंधक, महा प्रबंधक और अधिशासी अभियंता सहित दूसरे अधिकारियों के खिलाफ 80 लाख रुपए की रिश्वत मांगने का आरोप लगाते हुए हजरतगंज कोतवाली में तहरीर दी है। उनकी तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

मामले की जानकारी देते हुए हजरतगंज सीओ अभय मिश्रा ने बताया कि पीड़ित ने यूपी सिडको के मुख्य प्रबंधक अजय कुमार श्रीवास्तव, महाप्रबंधक गोविंद बल्लभ मिश्र,अधिशाषी अधिकारी रमेश मुनि त्रिपाठी सहित धीरेंद्र कुमार, अनूप गुप्ता, आशीष शुक्ला और संजय कात्यायन के खिलाफ धोखाधड़ी को लेकर एफआईआर दर्ज कराई है। आर क्यूब ग्रुप ऑफ़ कंपनीज के प्रबंध निदेशक महेश चंद श्रीवास्तव के अनुसार उन्हें मेरठ और इलाहाबाद मेडिकल कॉलेजों में फायर फाइटिंग सिस्टम के उच्चीकरण का काम यूपी सिडको की ओर से मिला था।

इस बाबत उनसे यूपी सिडको के अधिकारियों ने 80 लाख रूपए रिश्वत की मांग की और रिश्वत ना देने पर उनके वर्क आर्डर को फर्जी दस्तावेजों के माध्यम से निरस्त करा दिया गया। आर क्यूब ग्रुप ऑफ़ कंपनीज के प्रबंध निदेशक महेश श्रीवास्तव की तहरीर पर धोखाधड़ी, कूटरचित दस्तावेज सहित अन्य धाराओं में FIR दर्ज कर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार