लखनऊ में शिक्षा के व्यवसायीकरण के खिलाफ एबीवीपी कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन

डीएन संवाददाता

शिक्षा के बढ़ते व्यवसायीकरण को लेकर एबीवीपी कार्यकर्ताओं में जबरजस्त रोष व्याप्त है। इसके विरोध में एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने शिक्षा भवन में जिला विद्यालय निरीक्षक को ज्ञापन सौंप विरोध जताया।

ज्ञापन सौंपते एबीवीपी के कार्यकर्ता
ज्ञापन सौंपते एबीवीपी के कार्यकर्ता

लखनऊ: शिक्षा के व्यवसायीकरण के खिलाफ शिक्षा भवन में एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं ने अपनी मांगों को सामने रखकर कार्यवाही की मांग की है। प्रदर्शनकारियों ने स्कूलों में न पढ़ा कर कोचिंग सेंटर में पढ़ाने वाले शिक्षकों पर भी कारवाई की मांग की।

यह भी पढ़ें: कानपुर में जीएसटी का उग्र विरोध, व्यापारियों की नारेबाजी

यह भी पढ़ें: फतेहपुर: बिजली की समस्या से जूझते ग्रामीणों ने अधीक्षण अभियंता को दिया ज्ञापन

शिक्षा भवन में एबीवीपी के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने जोरदार विरोध प्रदर्शन कर शिक्षा के व्यवसायीकरण के खिलाफ नाराजगी जाहिर की। एबीवीपी का आरोप है कि   राजकीय विद्यालय में कार्यरत शिक्षक जो व्यक्तिगत कोचिंग सेंटर खोलकर बच्चों को नम्बर कम देने की धौंस देते हैं और उन पर कोचिंग में पढ़ने के लिए दबाव बनाते हैं। उन्हें नौकरी से हटाए जाने की मांग की।

यह भी पढ़ें: फतेहपुर: खागा विभाजन मुद्दे को लेकर प्रतिनिधि मंडल ने डिप्टी सीएम से मुलाकात कर सौंपा ज्ञापन

एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने अपनी मांगो से संबंधित ज्ञापन जिला विद्यालय निरीक्षक मुकेश कुमार सिंह को सौंपकर कार्यवाही की मांग की। वहीं एबीवीपी की जिला छात्रा प्रमुख मुक्ता खरे ने कहा कि अगर शिक्षा के व्यापारीकरण में कोई रोक नहीं लगी और हमारी मांगे पूरी नहीं हुयी तो हम उग्र प्रदर्शन कर आर-पार की लड़ाई पर उतरेंगे और इसकी पूरी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार