जम्‍मू कश्‍मीर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, 3 आतंकी ढेर

डीएन ब्यूरो

जम्मू के बाहरी इलाके नागरोटा में जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर बान टोल के पास आतंकवादियों ने शुक्रवार तड़के केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएएफ) के शिविर पर गोलीबारी की जिसमें एक जवान घायल हो गया तथा सुरक्षा बलों ने जवाबी कार्रवाई में तीन आतंकवादियों को मार गिराया।

फाइल फोटो
फाइल फोटो

जम्मू: जम्मू के बाहरी इलाके नागरोटा में जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर बान टोल के पास आतंकवादियों ने शुक्रवार तड़के केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएएफ) के शिविर पर गोलीबारी की जिसमें एक जवान घायल हो गया तथा सुरक्षा बलों ने जवाबी कार्रवाई में तीन आतंकवादियों को मार गिराया।

यह भी पढ़ें: महराजगंज कोल्हुई के जोगियाबारी घाट पर राजकीय सम्मान के साथ हुआ सेना के जवान का अंतिम संस्कार

जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने बताया कि तीन से चार आतंकवादी ट्रक में सवार होकर कश्मीर घाटी की ओर जा रहे थे। उन्हें सीआरपीएफ की नाका पार्टी ने बान टोल के पास रोका जिसके बाद उन्होंने गोलीबारी शुरू कर दी। उन्होंने बताया कि एक आतंकवादी को तुरंत मार गिराया गया जबकि अन्य अंधेरे का फायदा उठाकर जंगल में भाग निकले। उनकी तलाश के लिए सुरक्षा बलाें ने व्यापक तलाश अभियान चलाया और दो अन्य आतंकवादियों को भी मार गिराया। उनके पास से भारी मात्रा में गाेला-बारूद और हथियार भी बरामद किये गये हैं। उन्होंने बताया कि एक आतंकवादी अब भी जंगल में छुपा हुआ है। उसकी तलाश जारी है।

पुलिस महानिदेशक ने बताया कि ये आतंकवादी नये घुसपैठिये समूह के सदस्य हैं और श्रीनगर की ओर जा रहे थे। उन्होंने संदेह जताया कि आतंकवादियों ने कठुआ, हीरानगर सीमा से घुसपैठ की होगी। इससे पहले केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया था कि सुरक्षा बलों ने एक आतंकवादी को ढेर कर दिया। अभियान अब भी जारी है और इस हमले में एक सुरक्षाकर्मी घायल हुआ है। उन्हाेंने बताया कि आतंकवादी जिस ट्रक में सवार होकर आये थे, उसके चालक मोहम्मद मकबूल वानी को गिरफ्तार कर लिया गया है। वह अनंतनाग का निवासी है।

यह भी पढ़ें: आर्मी जवान की मौत गांव में पसरा मातम 

अधिकारी ने बताया कि दो से तीन आतंकवादियाें के समूह ने जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर नागरोटा के बान टोल के पास चार राउंड गोलीबारी की। अंधेरे का फायदा उठाकर आतंकवादी जंगल के रास्ते फरार होने में कामयाब रहे। हमले के बाद पुलिस, सीआरपीएएफ और सेना के जवान मौके पर पहुंचे और आतंकवादियों की तलाश शुरू कर दी। उधमपुर के मजिस्ट्रेट ने इस अभियान के मद्देनजर सभी स्कूलों और डिग्री कॉलेज में एक दिन के अवकाश की घोषणा कर दी है। जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर यातायात भी बंद कर दिया गया है। वर्ष 2018 के सुंजुवान हमले के बाद नागरोटा में यह दूसरा सबसे बड़ा हमला है। (वार्ता)

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार