गोरखपुर: सीएम योगी के जनता दरबार में फूटा बीपीएड अनुदेशकों का गुस्सा, जमकर नारेबाजी-प्रदर्शन

डीएन ब्यूरो

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जनता दरबार में लंबित समस्याओं के समाधान के इरादे से पहुंचे बीपीएड अनुदेशकों का उस समय गुस्सा फूट पड़ा, जब उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई। गुस्साये बीपीएड प्रशिक्षकों ने जमकर नारेबाजी और प्रदर्शन किया। पूरी खबर..

प्रदर्शनकारियों को खदेड़ती पुलिस

गोरखपुर: यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गोरखनाथ मंदिर में आयोजित जनता दरबार के दौरान बुधवार को भारी संख्या में आये बीपीएड अनुदेशकों ने अपनी मांगों को लेकर जमकर हंगामा और नारेबाजी की। पुलिस ने प्रदर्शनकारी बीपीएड अनुदेशकों को किसी तरह शांत कराया औऱ वहां से बाहर भेजा। बीपीएड अनुदेशकों ने सीएम योगी पर वादाखिलाफी का भी आरोप लगाया है। 

दरअसल राज्य के सैकड़ों बीपीएड अनुदेशक लंबे समय से भर्ती प्रक्रिया को बहाल करने की सरकार से मांग कर रहे है। इसके अलावा लंबे समय से कार्यरत बीपीएड अनुदेशक सरकार से स्थायी नियुक्ति की भी मांग कर रहे हैं। इन मामलों को लेकर बीपीएड अनुदेशक पहले भी धराना-प्रदर्शन कर चुके हैं।

मंगलवार को अपने गृह जनपद के दो दिवसीय दौरे पर आये सीएम योगी के जनता दरबार में अपनी समस्याओं को उठाने के लिये भारी संख्या में बीपीएड अनुदेशक गोरखपुर पधारे। दूसरे दिन बुधवार को जब उनकी सुनवाई नहीं हुई तो बीपीएड अनुदेशकों ने गोरखनाथ मंदिर में जनता दरबार के दौरान ही प्रदर्शन व नारेबाजी शुरू कर दी। हलांकि सुरक्षा बलों ने प्रदर्शनकारियों को जल्द ही रोक लिया और वहां से बाहर खदेड़ा।  

बीपीएड अनुदेशकों का कहना है कि चुनाव के दौरान समेत कई मर्तबा खुद योगी आदित्यनाथ और भाजपा ने उनकी मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया था, लेकिन सत्ता मिलते ही और सीएम बनने के बाद योगी ने उनकी लंबित मागों की तरफ कोई ध्यान नहीं दिया। प्रदर्शनकारियों ने सीएम योगी पर उनकी पुरानी मांगों को पूरा न करने का आरोप लगाया है।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार