फतेहपुर: स्कूल में कीड़े मारने की दवा खाने से दो मासूम बच्चियों की मौत

डीएन संवाददाता

सरकार द्वारा बच्चों को दी जाने वाली कीड़े मारने की दवा पीने से कथित तौर पर दो बच्चियों की मौत हो गयी। मासूमों के परिजनों ने स्कूल और प्रशासन पर अब मामले की लीपापोती करने का आरोप लगाया है। पूरी खबर..

फाइल फोटो
फाइल फोटो

फतेहपुर: सरकार द्वारा स्कूली बच्चों को दी जाने वाली कीड़े मारने की कथित दवा पीने से बिंदकी कोतवाली के मंडराव गाँव में दो बहनों की मौत का मामला सामने आया है। मासूमों का मौत से पूरे क्षेत्र में कोहराम मचा हुआ है।

हालांकि इस मामले में प्रारंभिक जाँच के बाद प्रशासन का कहना है कि कीड़े की दवा को मृत्यु का कारण बताना सर्वथा गलत है। जांच टीम का कहना है कि एल्बैंडाजोल खाने से मृत्यु का प्रश्न ही नहीं उठता। प्रशासन का कहना है कि यह दवा प्रदेश में लगभग 6 करोड़ बच्चों ने खिलाई जाती है, अगर ऐसा होता तो अन्य बच्चे भी इससे प्रभावित होते। प्रशासन ने मामले की पूरी जांच के बाद पूरी रिपोर्ट देने की बात कही है।  

दवाई पीने के बाद दोनों बहनों की मृत्यु के बाद जब स्कूल के अध्यापकों, आँगनवाड़ी वर्कर्स एवं अन्य सम्बन्धितों से पूछताछ की गयी तो स्पष्ट हुआ कि दोनों बच्चियों ने पेट में कीड़े मारने वाली दवाई albandazole खायी हीं नहीं क्योंकि दोनों की आयु 5 वर्ष से कम थी और इस आयु के बच्चों दवा नहीं दी गयी थी।

मृतक बच्चियों के परिजनों का आरोप है कि मासूमों की मौत दवाई पीने से ही हुई है और अब स्कूल प्रशासन मामले की लीपापोती कर रहा है। 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार