सीएम योगी: 15 जून से 15 जुलाई तक पेश होगा बजट

डीएन संवाददाता

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार एक्शन मोड में आ गई है। सत्ता संभालते ही योगी आदित्यनाथ की तरफ से फरमान जारी कर दिया गया था कि मंत्रियों को जल्द ही अपनी संपत्ति घोषित करनी होगी। लेकिन अब सचिव और उप सचिवों के लिए भी आदेश जारी किया गया है।

एक्शन मोड में  योगी सरकार
एक्शन मोड में योगी सरकार

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ ने सोमवार को लोकभवन में प्रदेश के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। उनके साथ उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा और केशव प्रसाद मौर्य भी थे। मुख्यमंत्री ने सभी अधिकारियों को लोक संकल्प पत्र के हिसाब से योजना का निर्देश देने के साथ कहा कि प्रदेश का बजट 15 जून से 15 जुलाई के बीच पेश होगा। बैठक के दैरान आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश के सभी अधिकारी अब महिलाओं के प्रति अपना रुख बदलें। उन्होंने कहा कि तहसील और थानों में किसी भी तरह का राजनीतिक दबाव नहीं होना चाहिए। सीएम ने कहा कि सभी अधिकारी लोक संकल्प के हिसाब से योजना बनाएं।

मुख्यमंत्री बताया कि उत्तर प्रदेश का बजट 15 जून से 15 जुलाई तक पेश होगा। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने अधिकारियो को 15 दिन में सम्पति की जानकारी देने को कहा है। मुख्यमंत्री की इस बैठक में मुख्य सचिव राहुल भटनागर, अपर मुख्य सचिव सदाकांत, अनीता जैन भटनागर, प्रमुख सचिव सूचना नवनीत सहगल, प्रमुख सचिव परिवहन अराधना शुक्ला तथा सभी प्रमुख सचिव और सचिव मौजूद थे।

 

प्रमुख सचिव उर्जा संजय अग्रवाल के साथ संस्कृति सचिव डॉ. हरिओम इनके साथ लखनऊ के जिलाधिकारी जीएस प्रियदर्शी और एसएसपी मंजिल सैनी भी बैठक में थीं। इन सभी अधिकारियों के बीच बैठक से पहले भारतीय जनता पार्टी का घोषणा पत्र बांटा गया है। जिससे इनको सरकार की वरीयता वाले सभी काम का पता चल सके और वह इसका अनुपालन करें। वहीं बैठक से पहले लोक भवन में स्वछता के लिए सभी ऑफिसर को दिलाई शपथ दिलाई गई।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …