लॉकडाउन को लेकर दिल्ली वालों ने दिए अपने सुझाव, जानें

डीएन ब्यूरो

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को कहा कि दिल्ली में लॉकडाउन के चौथे चरणो लेकर करीब साढ़े पांच लाख सुझाव मिले हैं और इन पर उपराज्यपाल और विशेषज्ञों की सलाह के बाद इन्हें सरकार को भेजा जायेगा।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

नयी दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को कहा कि दिल्ली में लॉकडाउन के चौथे चरणो लेकर करीब साढ़े पांच लाख सुझाव मिले हैं और इन पर उपराज्यपाल और विशेषज्ञों की सलाह के बाद इन्हें सरकार को भेजा जायेगा।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ 12 मई को छह घंटे लंबी बैठक चली जिसमें कोरोना वायरस को लेकर लॉकडाउन के चौथे चरण को लागू करने पर चर्चा हुई थी। बैठक में कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने लॉकडाउन बढ़ाने का सुझाव दिया था। इसके अलावा मुख्यमंत्रियों से 15 मई तक सुझाव मांगे गए थे। इसके बाद केजरीवाल ने 13 मई तक दिल्ली के लोगों से सुझाव आमंत्रित किये थे कि वह पूर्णबंदी के चौथे चरण में क्या रियायत चाहते हैं। पूर्णबंदी का तीसरा चरण 17 मई को खत्म होना है।

केजरीवाल ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मीडिया को बताया कि लॉकडाउन-4 के लिए सरकार को 5.48 लाख सुझाव मिले हैं और इन पर अब विशेषज्ञों से सलाह ली जा रही है। उन्होंने कहा," दिल्लीवासियों, दिल्ली में लॉकडाउन में कितनी ढील दी जाए- इस पर अपने सुझाव देने के लिए बहुत बहुत शुक्रिया, पांच लाख से ज़्यादा सुझाव मिले हैं। आपके सुझावों के आधार पर हम केंद्र सरकार को दिल्ली से संबंधित प्रस्ताव भेजेंगे कि लॉक डाउन में ढील कितनी देनी चाहिए, इसको लेकर जनता से सुझाव मांगे थे, हमने तय किया की इसका निर्णय एयरकंडीशन कमरों में बैठ कर नहीं करेंगे, इसलिए हमने जनता से सुझाव मांगे थे। तकरीबन पांच लाख से ज्यादा सुझाव हमारे पास आये हैं।"

मुख्यमंत्री ने आगे कहा,"लोगों का मानना है कि पब्लिक ट्रांसपोर्ट को कम सवारियों के साथ खोलना चाहिए, मेट्रो को भी सीमित तरीकों से खोलना चाहिए। मार्केट कॉम्प्लेक्स को लेकर भी लोगों के बहुत सुझाव आये हैं, खासकर वहाँ पर आड-इवन लागू किये जाने का सुझाव कई लोगों ने भेजा है।":

उन्होंने कहा, "आप सब के सुझावों को लेकर आज शाम चार बजे राज्य आपदा प्रंबधन और उपराज्यपाल साहब से साथ एक बैठक हैं, उसके बाद इसका ड्राफ्ट बनाकर हम केंद्र सरकार को भेजेंगे। केंद्र सरकार 2-3 दिन में आदेश देगी की दिल्ली में क्या-क्या खुलेगा , जो भी खुले, हमें सामाजिक दूरी के साथ सभी नियमों का पालन करना है।"

उन्होंने कहा अधिकांश लोगों ने शर्तों के साथ बसें,सीमित ढंग से मेट्रो, दुकानों के लिए आड-ईवन,पार्क जाने की इजाजत देने के सुझाव दिये तो मास्क नहीं पहनने पर कार्रवाई और स्कूल-काॅलेज, सैलून,स्पा और सिनेमा नहीं खोलने के पक्ष में बड़ी संख्या में सुझाव आए। (वार्ता)

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार