यूपी में पासपोर्टों की दोबारा होगी जांच, बड़ा कैंपेन चलायेगी पुलिस

डीएन ब्यूरो

ऐसी रिपोर्टें है कि यूपी में बड़ी संख्या में रहने वाले बाहरी लोग अवैध तरीके से फर्जी कागजातों के आधार पर पासपोर्ट बना चुके हैं। सीएम योगी भी ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दे चुके हैं। पुलिस अब ऐसे लोगों की धरपकड़ के लिये पूरे राज्य में पासपोर्टों का फिर वेरिफिकेशन करेगी।

फाइल फोटो
फाइल फोटो

मेरठ: उत्तर प्रदेश पुलिस अवैध रूप से रह रहे लोगों की धरपकड़ के लिये पूरे राज्य में अब तक जारी किये गये पासपोर्टों का फिर वेरिफिकेशन करेगी। पुलिस ने यह निर्णय राज्य में आतंकी नेटवर्क होने से संबंधित गोपनीय रिपोर्टों के बाद लिया है। ऐसी भी रिपोर्टें है कि यूपी में बड़ी संख्या में बाहरी लोग अवैध तरीके से रह रहे हैं और फर्जी कागजातों के आधार पर पासपोर्ट बना चुके हैं।

पुलिस पूरे राज्य में पासपोर्ट वेरिफिकेशन के लिये जल्द ही एक कैंपेन शुरू करेगी। राज्य के अतिरिक्त महानिदेशक (लॉ एण्ड ऑर्डर), आनंद कुमार ने समाचार एंजेसी एएनआई को बताया कि इसके लिये व्यापक कैंपेन चलाया जायेगा और इसके बाद अवैध तरीके से रह रहे लोगों की पहचान कर उनको उनके देश वापस भेजा जायेगा। इस कैंपेन का मकसद फर्जी पासपोर्ट की पहचान करना भी है।

कुमार का कहना है कि गैर भारतीयों ने भी गलत तरीके से अवैध इंडियन पासपोर्ट बनाये हुए है। ऐसे लोग दिल्ली-एनसीआर में बड़ी संख्या में रह रहे हैं। इस कैंपेन में उनकी पहचान की जायेगी और उन्हें उनके देश वापस भेजा जायेगा।

हाल ही में पुलिस समेत खुफिया एंजेसियों ने फर्जी पासपोर्ट के साथ दो बांग्लादेशी नागरिकों को को गिरफ्तार किये था। इन्होंने देवबंद के पते पर फर्जी कागजातों के आधार पर फर्जी पासपोर्ट बनाये थे। सीएम योगी भी राज्य में अवैध तरीके से रह रहे लोगों को लेकर चिंता जता चुके है और ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दे चुके हैं।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार