योगी के मंत्री सत्यदेव पचौरी ने दिव्यांग कर्मचारी का किया अपमान, कहा-लूला लंगड़ा क्या सफाई कर पाएगा

डीएन संवाददाता

जहां एक तरफ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जनता दरबार और दिव्यांगों के सम्मान में विभाग का नाम बदलकर दिव्यांगजन जनसशक्तीकरण विभाग कर रहे हैं। वहीं दूसरी ओर उन्हीं की सरकार के मंत्री दिव्यांग को बेइज्जत करने का काम कर रहे हैं।

सत्यदेव पचौरी
सत्यदेव पचौरी

लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा के मंत्रियों और कार्यकर्ताओं को हमेशा सोच समझकर बोलने के बारे में आगाह करते रहते हैं। वो ऐसी सारी कोशिशें करते हैं जिससे उनकी पार्टी पर कोई उंगली न उठा पाए लेकिन मंत्री हैं कि उनकी सुनते ही नहीं। ऐसा ही एक मामला लखनऊ से सामने आया है जहां योगी सरकार सत्यदवे पचौरी बुधवार को सुबह लखनऊ स्थित खादी ग्रामद्योग बोर्ड के दफ्तर गये थे। इस दौरान पचौरी ने वहां उपस्थित अधिकारी से कहा कि लूले लंगड़े को संविदा पर क्यों रख रखा है। ये क्या सफाई करेगा। इसलिए सफाई का यह हाल है। योगी के मंत्री की इस सोच का योगी के विचारों के साथ मेल ना खाना दुख की बात है। 

क्या था पूरी मामला:
दिव्यांग सफाई कर्मचारी को खरी-खोटी सुनाने का मामला बुधवार का है। दरअसल योगी सरकार में खादी और ग्रामोद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी बुधवार सुबह लखनऊ के डालीबाग स्थित खादी ग्रामद्योग बोर्ड के दफ्तर पहुंचे थे। वहां वह साफ-सफाई का निरीक्षण करने लगे। वहीं साफ-सफाई के लिए मौजूद दिव्यांग कर्मचारी के लिए मंत्री ने कहा कि लूले-लंगड़े लोगों को संविदा पर रख रखा है, ये क्या सफाई कर पायेगा। तभी ऐसा हाल है यहां की सफाई का। 

गौरतलब है कि एक तरफ सीएम योगी आदित्यनाथ दिव्यांगों के सम्मान में विभाग का नाम बदलकर दिव्यांगजन जनसशक्तिकरण विभाग कर दिया है तो दूसरी तरफ उन्ही के मंत्री ऐसी भाषा का प्रयोग कर रहे हैं।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार