यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ रविवार को दिल्ली दौरे पर.. खुलेगी नौकरशाही की उलझी हुई गांठ

डीएन ब्यूरो

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रुप में शपथ लेने के बाद महंथ योगी आदित्यनाथ तीसरी बार देश की राजधानी नई दिल्ली के दौरे पर आ रहे हैं। पहले दो बार की तुलना में इस बार उनका दौरा लंबा है और वे दिल्ली में रात्रि विश्राम भी करेंगे।

नई दिल्ली दौरे पर योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)
नई दिल्ली दौरे पर योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ 24 घंटे के दिल्ली दौरे पर 23 अप्रैल को पहुंच रहे हैं। हमेशा की तरह डाइनामाइट न्यूज़ यूपी सीएम के दिल्ली दौरे की पल-पल की खबर सबसे पहले आपको बता रहा है।

लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट से राजकीय विमान में सवार होकर योगी रविवार को 9.30 बजे दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट पर पहुंचेंगे और 24 घंटे तक नई दिल्ली के प्रवास पर रहेंगे।

यह भी देखें: योगी आदित्यनाथ के दिल्ली दौरे की LIVE तस्वीरें सिर्फ डाइनामाइट न्यूज़ पर..

योगी आदित्यनाथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में होने वाली नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की बैठक में हिस्सा लेंगे। यह बैठक इस बार राष्ट्रपति भवन में आयोजित की जा रही है।

बैठक का एजेंडा

तीन साल पूरे करने जा रही मोदी सरकार अब तक देश में चल रही पंचवर्षीय योजना का चेहरा बदल सकती है। प्रबल संभावना है इसे खत्म कर अब तीन साल के एक्शन प्लान के तौर पर काम किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: डाइनामाइट न्यूज़ से बोले सीएम योगी आदित्यनाथ- 'यूपी में अराजकता का नही होगा कोई स्थान'

दो साल बाद हो रही है यह बैठक

नीति आयोग की यह बैठक दो साल बाद हो रही इससे पहले गवर्निंग काउंसिल की बैठक 8 फरवरी 2015 को हुई थी। इसमें यूपी सीएम के अलावा विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल होंगे।

नौकरशाही पर होगा बड़ा फैसला

इस बैठक के बाद उनकी सबसे अहम मुलाकात होगी 11 अकबर रोड पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से। बेहद भरोसेमंद सूत्रों ने डाइनामाइट न्यूज़ को बताया कि इस मीटिंग में यूपी की उलझी हुई नौकरशाही की गांठ को सुलझाने की पुरजोर कोशिश होगी। एक महीने से ज्यादा बीत चुके हैं लेकिन अब तक यूपी में नौकरशाही का चेहरा बदल नही पाया है। मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव गृह के नाम पर अंतिम फैसला इस बैठक में होगा।

यह भी पढ़ें: 11वें सिविल सेवा दिवस पर पीएम मोदी ने कहा- मेधावी छात्र ही IAS बनते हैं, काम भी उसी हिसाब से होना चाहिए

मनमाफिक टीम चाहते हैं योगी

योगी अपने मनमाफिक टीम बनाना चाहते हैं ताकि वे 2019 में बेहतर रिजल्ट दे सकें लेकिन दिल्ली से समन्वय अब तक नही बन पाया है जिससे शीर्ष नौकरशाही का फैसला लटका पड़ा है। सबको इंतजार है बड़े पैमाने पर होने वाले तबादलों का ताकि राज्य की सुस्त पड़ी मशीनरी को तेजी के साथ दौड़ाया जा सके।

यूपी भाजपा का नया अध्यक्ष कौन?

आईएएस-आईपीएस जहां अपनी ट्रांसफर-पोस्टिंग के बारे में जानने को उत्सुक हैं तो वहीं पर संगठन से जुड़े नेता-कार्यकर्ता यह जानने को उतावले हैं कि राज्य भाजपा की कमान किसे मिलेगी। केशव मौर्य के डिप्टी सीएम बनने के बाद इस पद पर भी फैसला होना है। शाह व योगी के बीच होने वाली मुलाकात का यह भी एक अहम एजेंडा है।

वापसी

मुख्यमंत्री अगले दिन सोमवार को सुबह 9 बजे वापस लखनऊ के लिए दिल्ली से उड़ान भरेंगे।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार