मन की बात में बोले पीएम मोदी, भारत का संविधान लोकतंत्र की आत्मा

डीएन ब्यूरो

रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' के 38 वें कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी देशवासियों को संबोधित कर रहे हैं। जानें, पीएम मोदी ने 'मन की बात' में आज क्या-क्या कहा..

फाइल फोटो
फाइल फोटो

नई दिल्ली: रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' के 38 वें कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी देशवासियों को संबोधित कर रहे हैं। जानें, पीएम मोदी ने 'मन की बात' में आज क्या-क्या कहा।  नरेन्‍द्र मोदी ने देशवासियों के संविधान दिवस की शुभकामनायें देते हुए कहा कि भारत का संविधान लोकतंत्र की आत्मा है।

मोदी ने कहा कि संविधान सभा में महत्वपूर्ण विषयों पर 17 अलग-अलग समितियों का गठन हुआ था। इनमें से सर्वाधिक महत्वपूर्ण समितियों में से एक-ड्राफ्टिंग कमेटी थी, और डॉ. बाबा साहेब आंबेडकर, संविधान की उसके अध्यक्ष थे।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के मन की बात की प्रमुख बातें: 

# हेश टेग #PositiveIndia के साथ अपने पुराने और अच्छे अनुभवों को साझा कर सकारात्मक बातें करें। 
2018 का स्वागत Positive Thinking के साथ करें
आने वाले ‘ईद-ए-मिलाद-उन-नबी’ पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं।
फसल का ख्याल रखना है तो पहले धरती का ख्याल रखना होगा। 
5 दिसम्बर को World Soil Day है. मिट्टी को सहेजना जरूरी है। 
देशवासी चैन की नींद सो पाएं इसलिए नौसेनिक अपनी जवानी सुरक्षा में झोंक देते हैं
4 दिसम्बर को नौ-सेना दिवस मनाएंगें. नौ-सेना का अभिनंदन करता हूं। 
1949 में आज ही के दिन संविधान-सभा ने भारत के संविधान को स्वीकारा।
आतंकवाद ने मानवतावाद को चुनौती दी है। 

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार