सरहद पर पहुंचे पीएम मोदी का सैनिकों से खास संवाद, इशारों में चीन को सख्त संदेश, कही ये बड़ी बातें

डीएन ब्यूरो

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शुकवार को अचानक देश की सुदूरवर्ती सीमा लद्दाख के दौरे पा जा पहुंचे। पीएम ने लेह में जवानों को संबोधित भी किया। जानिये, क्या बोले पीएम मोदी..

लेह में जवानों को संबोधित करते पीएम मोदी
लेह में जवानों को संबोधित करते पीएम मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को आज अचानन लद्दाख दौरे पर जा पहुंचे। यहां पीएम मोदी ने लेह में भारतीय सेना के जवानों को संबोधित भी किया और चीन को संकेतों में कई महत्वपूर्ण संदेश भी दिये। मोदी ने भारतीय सेना और जवानों के पराक्रम की तारीफ करते हुए कहा कि हमारे सैनिकों ने दुनिया को अपनी बहादुरी का नमूना दिखा दिया है।

पीएम मोदी के संबोधन को सुनते भारतीय सेना के जाबांज सैनिक

पीएम मोदी ने जवानों से कहा कि आपका ये हौसला, शौर्य और मां भारती के मान-सम्मान की रक्षा के लिए आपका समर्पण अतुलनीय है। जिन कठिन परिस्थितियों में जिस ऊंचाई पर आप वीर सैनिक मां भारती की ढाल बनकर उसकी रक्षा, उसकी सेवा करते हैं, उसका मुकाबला पूरे विश्व में कोई नहीं कर सकता। सभी भारत वासियों को अपने सैनकों पर गर्व है।

अपने संबोधन में पीएम मोदी ने जहां भारतीय जवानों का उत्साह बढ़ाया वहीं चीनी सैनिकों की हरकतों समेत चीन की विस्तारवादी सोच पर जमकर भी तंज कसा। पीएम मोदी ने कहा कि अब विस्तारवाद का जमाना चला गया है, विकासवाद का वक्त है। मोदी ने चीन को चेताया कि विस्तारवाद की सोच रखने वाली ताकतें मिट जाया करती हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि तेजी से बदलते हुए समय में आज विकासवाद ही प्रासंगिक है। विकासवाद के लिए  पूरी दुनिया में सभी तरह केअवसर है और विकासवाद ही भविष्य का आधार है। विस्तारवाद की सोच अब खत्म हो चुकी है।

पीएम मोदी के साथ CDS बिपिन रावत और सेना प्रमुख एम.एम. नरवणे भी लेह में मौजूद हैं। 15 जून को गलवान घाटी में चीन के सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़प में 20 भारीतीय सैनिकों के शहीद हो जाने के बाद से चीन और भारत के रिश्तों में तनाव बना हुआ है। 

चीन के साथ सैन्य और डिप्लोमेटिक स्तर पर भी अब तक कई स्तरों पर भी बात हो चुकी है। दोनों देशों के बीच जारी तनावपूर्ण माहौल को शांत करने की कोशिश की जा रही हैं लेकिन अभी तक इसमें अपेक्षित सफलता नहीं मिल सकी है। 
 













संबंधित समाचार