SC का बड़ा फैसला, नाबालिग पत्नी संग यौन संबंधों को माना जाएगा रेप

डीएन ब्यूरो

सुप्रीम कोर्ट बुधवार को एक बड़ा फैसला सुनाते हुए कहा कि 15-18 साल से कम उम्र की पत्नी से बनाए गए यौन संबंधों को रेप माना जाएगा। इसी के साथ ही अदालत ने आईपीसी की धारा 375 में मौजूद अपवाद को खारिज कर दिया है।

सुप्रीम कोर्ट
सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को एक बड़ा फैसला सुनाते हुए कहा कि 15-18 साल से कम उम्र की पत्नी से बनाए गए यौन संबंधों को रेप माना जाएगा। इसी के साथ ही अदालत ने आईपीसी की धारा 375 में मौजूद अपवाद को खारिज कर दिया है।

यह भी पढ़ें:प्रदूषण के खिलाफ SC का फैसला, दिल्ली-NCR में पटाखों की बिक्री पर रोक

अपने फैसले में कोर्ट ने कहा कि 15 से 18 साल से कम की नाबालिग पत्‍नी से शारीरिक संबंध बनाने पर पति पर दुष्कर्म का मुकदमा चल सकता है। कोर्ट ने यह भी कहा कि पति पर दुष्‍कर्म का मुकदमा तभी चलेगा, जब नाबालिग पत्‍नी एक साल के अंदर इस बात की शिकायत करती है। वहीं कोर्ट का यह फैसला आज से लागू किया जायेगा।

यह भी पढ़ें: गौरक्षा के नाम पर हिंसा को लेकर सुप्रीम कोर्ट सख्त, राज्यों को नोटिस

आईपीसी 375 में 15 से ज्यादा उम्र की पत्नी से पति के यौन संबंध को दुष्कर्म की परिभाषा से बाहर रखा गया है। अब उच्चतम न्यायालय ने इस अपवाद को खत्म ही कर दिया है। इस तरह अब 15 से 18 साल की पत्नी के साथ बनाए गए यौन संबंध दुष्कर्म ही माने जाएंगे।

अपने फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने बाल विवाह रोकने के कानून का भी जिक्र किया। कोर्ट ने कहा नाबालिग पत्नी से संबंध बनाने वाले व्यक्ति को छूट नहीं दी जा सकती है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …