यूपी को नया मुख्य सचिव मिलने का रास्ता साफ..

मनोज टिबड़ेवाल आकाश

देश के सबसे बड़े सूबे की कमान संभाले योगी आदित्यनाथ को 26 जून को 100 दिन पूरे हो जायेंगे। इन सौ दिनों के बाद अब जाकर यूपी में नये मुख्य सचिव के तैनाती की तस्वीर साफ हुई है।

1981 बैच के यूपी कैडर के आईएएस राजीव कुमार
1981 बैच के यूपी कैडर के आईएएस राजीव कुमार

नई दिल्ली: यूपी में योगी सरकार को सत्ता संभाले 26 जून को 100 दिन पूरे हो जाएंगे। अमूमन नयी सरकार के साथ ही सत्ताधारी दल, तत्काल शीर्ष नौकरशाही के पदों पर बदलाव करती रही है लेकिन योगी सरकार ने इसमें कोई हड़बड़ी नही दिखायी। दूसरी तरफ सरकार के आलोचक यह कहते रहे कि कोई कायदे का अफसर जाने को तैयार नही। सच्चाई चाहे जो हो लेकिन अब 100 दिन के बाद राज्य को नया मुख्य सचिव मिलना तय माना जा रहा है।

डाइनामाइट न्यूज़ को मिली जानकारी के मुताबिक भारत सरकार के जहाजरानी मंत्रालय में सचिव औऱ यूपी के 1981 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी राजीव कुमार इस पद पर तैनात होंगे। राजीव इस समय विदेश में हैं और वे मंगलवार को दिल्ली लौटेंगे। इसके बाद वे अपनी ज्वाइनिंंग लखनऊ में देंगे और फिर इनकी तैनाती के औपचारिक आदेश जारी होंगे।

इधर डीओपीटी ने राजीव के गृह राज्य वापसी के औपचारिक आदेश जारी कर दिये हैं। 

यह भी पढ़ें: योगी आदित्यनाथ कल आ रहे हैं दिल्ली

राजीव के अलावा यूपी कैडर के दो अन्य अधिकारियों अनिल स्वरुप औऱ नीरज गुप्ता के नामों की चर्चा भी सत्ता के गलियारों में खूब तेज रही कि ये भी राज्य के मुख्य सचिव हो सकते हैं लेकिन इनमें से एक अधिकारी हाल-फिलहाल लखनऊ वापसी नही करना चाहते थे। अभी ये दोनों अफसर भारत सरकार में सचिव के पद पर तैनात हैं।

विश्वस्त सूत्रों ने डाइनामाइट न्यूज़ को बताया कि योगी 12 जून को दिल्ली में थे और इसी दिन जहाजरानी मंत्री नितिन गड़करी से इनकी लंबी मीटिंग यूपी की सड़कों को लेकर हुई थी। इसी दौरान यूपी में अटकी पड़ी परियोजनाओं को तेज करने के सुझाव पर गड़करी औऱ योगी के बीच राजीव को लखनऊ ले जाने की चर्चा हुई। इसी के बाद इस पर अमल हुआ और नतीजा सबके सामने दिख रहा है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार