लापरवाह व गैरकानूनी कार्यों में लिप्त 24 आईएएस सहित 381 के खिलाफ कड़ी कार्रवाई

डीएन ब्यूरो

विभागों व अधिकारियों को जवाबदेह बनाने को मोदी सरकार का मूलमंत्र, ‘बेहतर प्रदर्शन नहीं तो कार्रवाई’। केंद्रीय कार्मिक व प्रशिक्षण मंत्रालय ने लापरवाह अधिकारियों को समय से पहले सेवानिवृत्ति देने के साथ वेतन में कटौती कर दंडित किया।

नॉर्थ ब्लॉक
नॉर्थ ब्लॉक

नई दिल्ली: मोदी सरकार भ्रष्टाचार व गैरकानूनी गतिविधियों में शामिल अधिकारियों पर सख्त है। सरकार ने केंद्र में कार्यरत 24 आईएएस अधिकारियों और 357 बाबूओं व अन्य अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है जो अपने कार्यों में लापरवाह और कथित तौर पर भ्रष्टाचार व गैरकानूनी गतिविधियों में शामिल रहे हैं। कार्रवाई के तौर पर इन अधिकारियों को समय से पूर्व सेवानिवृत्ति और अर्थ दंड के रूप में वेतन में कटौती की गई है।

केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, सुशासन की स्थापना केंद्र सरकार का ध्येय है। विभागों व अधिकारियों को जवाबदेह बनाने को हमारा मूलमंत्र है ‘बेहतर प्रदर्शन नहीं तो कार्रवाई’। 

उन्होंने कहा, कार्मिक व प्रशिक्षण मंत्रालय ने अपने कार्यों में लापरवाह और अवैध गतिविधियों में शामिल होने पर विभिन्न मंत्रालयों व विभागों में कार्यरत भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के 24 अधिकारियों सहित  कुल 381 कर्मचारियों व अन्य अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। इन कार्रवाइयों में समय से पहले सेवानिवृत्ति और वेतन में कटौती शामिल है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)













संबंधित समाचार