महराजगंज: कोरोना से बचाव के लिये मास्क पहने लोगों का भी चालान काट रही पुलिस, जनता में आक्रोश

डीएन ब्यूरो

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये लोगों द्वारा मास्क पहनने के बावजूद भी पुलिस का चालान काटना चर्चा का विषय बना हुआ है। पुलिस की इस करतूत से लोगों में खासा आक्रोश है। पूरी खबर..

लोगों के चालान के लिये बैठी पुलिस
लोगों के चालान के लिये बैठी पुलिस

फरेन्दा (महराजगंज): कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये लोगों द्वारा मास्क पहनने के बावजूद भी पुलिस का चालान काटना चर्चा का विषय बना हुआ है। कस्बे के कई लोगों में पुलिस की इस करतूत से काफी नाराजगी है। जनता का आरोप है कि कोरोना नियमों के उल्लघंन पर चालान के बहाने पुलिस जनता को लूट रही है। 

फरेंदा कस्बे में लाकडाउन होने के कारण बैरिकेडिंग कर कस्बे को सील कर दिया गया है। आम  नागरिकों की सुविधा के लिए प्रशासन द्वारा सुबह 7 से 10 तक फल, सब्जी, किराना आदि के दुकानों को खोलने के निर्देश दिये गये हैं। इस दौरान कस्बे के साथ ही आसपास के गांव के लोग जरूरत का सामान खरीदने पहुंच रहे हैं।

मथुरानगर निवासी राजदेव यादव ने कहा कि वह मुँह पर गमछा बाँधे हुए थे, इसके बावजूद एसआई रविन्द्र सिंह ने उनका यह कहते हुए चालाना कर दिया कि टारगेट पूरा करना है, इसलिए चालान काटे जा रहा है।

राजदेव के अलावा यहां के कुछ अन्य लोगों का भी आरोप है कि मास्क लगाने के बाद भी पुलिस जबरन चालान काट रही है। गुहार के बाद भी पुलिस जनता की बात नहीं सुन रही है। लोगों का आरोप है कि पुलिस अपना कोटा पूरा करने के लिये चालान काट रही है। जबकि जांच के दौरान पुलिसकर्मी स्वयं मास्क नहीं पहने रहते हैं। 

पुलिस की इस कार्य प्रणाली से आम नागरिकों में भारी गुस्सा है। 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)













संबंधित समाचार