लखनऊ: यूपी के 8 पिछड़े जिलों के विकास के लिये रोडमैप तय

डीएन ब्यूरो

नीति आयोग द्वारा चिन्हित उत्तर प्रदेश के 8 अति पिछड़े जिलों के विकास की मॉनिटरिंग का एजेंडा तय करने के लिये गृहमंत्री राजनाथ सिंह और सीएम योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में एक बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें कई महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये।


लखनऊ: नीति आयोग द्वारा चिन्हित उत्तर प्रदेश के 8 अति पिछड़े जिलों के विकास की मॉनिटरिंग का एजेंडा तय करने के लिये गृहमंत्री राजनाथ सिंह और सीएम योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में एक बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें कई महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये और जिलों के विकास का रोडमैप तय किया गया। केंद्र सरकार द्वारा यूपी के इन 8 जिलों की देखरेख की जिम्मेदारी राजनाथ सिंह को दी गई है। 

गौरतलब है कि नीति आयोग ने उत्तर प्रदेश के सबसे पिछड़े आठ जिलों में चित्रकूट, बलरामपुर, बहराइच, सोनभद्र, श्रावस्ती, चंदौली, सिद्धार्थनगर और फतेहपुर को शामिल किया है। नीति आयोग ने देश भर में 115 सबसे पिछड़े जिलों को चिन्हित किया था, जिसमें से यूपी के ये आठ जिले भी है।

 

केंद्र सरकार का फैसला है कि पिछड़े जिलों को वर्ष 2022 तक विकसित कर दिया जाए। इन जिलों में विकास कार्यक्रमों की रियल टाइम मॉनिटरिंग के लिए एक-एक केंद्रीय मंत्री को जिम्मेदारी दी गई है।

हाल ही में राजनाथ ने इन जिलों के विकास के लिए बनी योजनाओं की समीक्षा बैठक भी की थी। इसमें नीति आयोग के अधिकारियों के अलावा इन पिछड़े जिलों के अधिकारी भी शामिल हुए। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार