DN Exclusive: डाइनामाइट न्यूज़ के सवाल पर सीएम योगी का जबाव- बिजली विभाग के निजीकरण की बात अफवाह

डीएन संवाददाता

भाजपा के स्थापना दिवस पर डाइनामाइट न्यूज के एक सवाल के जबाव में सीएम योगी ने कहा कि हमारी प्राथमिकता बिजली विभाग को घाटे से उबारने की है और उसके लिए हम निवेशकों का स्वागत करेंगे। उन्होंने कहा कि निजीकरण और निवेश में फर्क होता है।


लखनऊ: भाजपा के स्थापना दिवस पर आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में डाइनामाइट न्यूज के एक सवाल के जबाव में यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उनकी सरकार ने कभी भी बिजली विभाग के निजीकरण की कोई बात नहीं की और न ही इस बारे में किसी भी तरह का कोई प्रस्ताव कैबिनेट से पास हुआ। हम बिजली विभाग को घाटे से उबारने के लिये इसमें निवेश बढ़ाना चाहते हैं।

 

 

सीएम योगी ने डाइनामाइट न्यूज के सवाल के विस्तृत जबाव में कहा कि हमारी प्राथमिकता बिजली विभाग को घाटे से उबारने की है और उसके लिए हम निवेशकों का स्वागत करेंगे। उन्होंने कहा कि निजीकरण और निवेश में फर्क होता है। बिजली विभाग के निजीकरण की बात अफवाह है। सीएम ने कहा कि बिजली विभाग को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए हम निवेश मांगने से पीछे नहीं हटेंगे।

गौरतलब है कि यूपी के कुछ जिलों में विद्युत वितरण व्यवस्था निजी हाथों में देने की चर्चा चल रही थी। जिस पर इन दिनो कुछ जिलों के बिजली कर्मचारी सरकार के खिलाफ लगातार विरोध प्रदर्शन करने में जुटे थे। उनके कई प्रतिनिधिमंडल यूपी सरकार के ऊर्जा मंत्री और आला अफसरों से भी मिला। हालांकि सरकार ने अपना प्रस्ताव फिलहाल वापस ले लिया है।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार